प्रतापगढ़ जनपद के 7 विधानसभा सीटों में एक से बढ़कर एक राजनीतिक पकड़ वाले अपनी किस्मत को आजमा रहे

0
558

प्रतीकात्मक
प्रतीकात्मक

प्रतापगढ़ : उत्तर प्रदेश की राजनीति में जनपद प्रतापगढ़ के राजनैतिक धुरंधरों का अलग परचम लहराता है आगामी 2017 के विधानसभा चुनाव में प्रतापगढ़ जनपद के 7 विधानसभा सीटों में एक से बढ़कर एक राजनीतिक पकड़ वाले अपनी किस्मत को आजमा रहे हैं ऑ

बात अगर कुंडा विधानसभा की की जाए तो वहां से कुंवर रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया समाजवादी सरकार के काबीना मंत्री रह चुके हैं तो आगे रामपुर विधानसभा की बात की जाए तो पूर्व मंत्री वर्तमान राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी की पुत्री आराधना मिश्र उर्फ मोना अपनी किस्मत को दूसरी बार विधानसभा से चुनावी जीत हासिल कर विधानसभा पहुंचने की हर कोशिश कर रही है और रही बात विश्वनाथगंज विधानसभा की तो यहां पूर्व मंत्री स्वर्गीय राजाराम पांडे समाजवादी सरकार के मंत्री थे उनके पुत्र संजय पांडे जी सपा कांग्रेस गठबंधन से किस्मत आजमा रहे हैं, वही दूसरी तरफ इसी विधानसभा से बसपा के प्रत्याशी प्रेमानंद उर्फ मनु महाराज प्रतापगढ़ जनपद के मनगढ़ धाम के जगतगुरु स्वर्गीय कृपालु महाराज के प्रपौत्र हैं तथा पूर्व मंत्री स्वर्गीय रामनरेश शुक्ल के पुत्री के पुत्र हैं तो प्रतापगढ़ विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के मुन्ना यादव अपना दल भाजपा के प्रत्याशी संगम लाल तथा बहुजन समाज पार्टी के अशोक त्रिपाठी अपनी किस्मत को आजमा रहे हैं तो वहीं पट्टी विधानसभा में उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर अपनी किस्मत को टटोल रहे हैं तो वहीं वर्तमान में रहे समाजवादी पार्टी के विधायक राम सिंह पटेल भी अपनी दम लगा कर नैया को पार करने की जुगाड़ में है तो बहुजन समाज पार्टी के कुंवर शक्ति सिंह भी मैदान में है तो जनपद प्रतापगढ़ के रानीगंज विधानसभा के समाजवादी सरकार के कैबिनेट मंत्री प्रोफेसर शिवाकांत ओझा एवं भाजपा अपना दल प्रत्याशी धीरज ओझा बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी शकील अहमद के बीच कड़ा मुकाबला होने के आसार हैं तो वहीं बाबागंज विधानसभा से पूर्व विधायक स्वर्गीय रामनाथ सरोज के पुत्र विनोद सरोज जो बाबागंज विधानसभा के निवर्तमान विधायक हैं और वह भी मैदान में है वह भी चुनावी पैठणी पार करके विधानसभा का चुनाव जीतकर पहुंचने में जनता के बीच में जाकर अपनी उपलब्धियां दिन आ रहे हैं विनोद सरोज राजा भैया के कृपापात्र विधायक है रही बात 2017 के चुनाव की तो जनपद की 7 विधानसभा के चुनाव की तो जनपद प्रतापगढ़ के राजनेता इस चुनाव में मतदाता बंधुओं को हर प्रयास करके अपने आप को जनता के बीच में नंबर एक पर पहुंचने की जुगाड़ लगा बैठे हैं राजनीति में माहिर यह जिला प्रतापगढ़ 2014 के लोकसभा के चुनाव में जो गलती किया है वह गलती अब विधानसभा के चुनाव में सहने को तैयार नहीं है यही हाल रहा तो आने वाले समय में प्रतापगढ़ जनपद की राजनीति बाहरी लोगों के हाथ में चली जाएगी इसलिए जनपद प्रतापगढ़ के राजनेता पिछले लोकसभा चुनाव से सहमे हुए हैं और जनता जनार्दन के बीच में जाकर अपनी अपनी उपलब्धियां दिन आ रहे हैं अब देखना यह है कि आगामी 23 फरवरी के चुनाव में ग्रामीण जनता जनार्दन का फैसला क्या आएगा यह तो वक्त बताएगा रही बात जनपद प्रतापगढ़ में चुनाव की तो इस समय सातों विधानसभा में चुनाव प्रचार दिन प्रतिदिन अपने आप में अलग मायने कायम कर रहा है नेता अपनी बात हर दृष्ट से जनता के दिल में उतारने की भरपूर कोशिश कर रहे हैं लेकिन मतदाताओं की चुप्पी नेताओं की चेहरे की हवा हवाई उड़ाने को मजबूर कर रही है जनपद में कुछेक विधानसभा ऐसी है की उन विधानसभाओं पर जीत सुनिश्चित है |

सूत्र बताते हैं जीत सुनिश्चित है सूत्र बताते हैं कुंडा विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी कुंवर रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया बाबागंज विधानसभा से राजा भैया समर्पित विनोद सरोज तथा रामपुर संग्रामगढ़ से आराधना मिश्रा उर्फ मोना का विधानसभा पहुंचना माना जा सकता है वही कांटे की टक्कर प्रतापगढ़ विधानसभा विश्वनाथगंज विधानसभा पट्टी विधानसभा रानीगंज विधानसभा में देखने को मिलेगी इन विधानसभाओं की लड़ाई दिन पर दिन रोचक होती जा रही है मतदाताओं की चुप्पी साधना राजनेताओं के चेहरों की हवाई उड़ना यह लाजमी है

रिपोर्ट -अवनीश कुमार मिश्रा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY