छापेमारी में बड़ा खुलासा, खेतों के बीच में उगाते थे करोड़ों की अफीम

0
271

Afeem feild
समस्तीपुर : हालाकि समस्तीपुर जिले में अफीम एवं गांजा की खेती काफी दिनों से कुछ लोगों द्वारा छिपाकर की जा रही थी. लेकिन अभी तक इसका उद्बोधन सार्वजनिक तौर पर नहीं हो पाया था, पता नही क्यों उत्पाद विभाग अबतक इस पर मौन धारण किए हुए था, लेकिन पुलिस ने आखिरकार अपनी सूचना तंत्र पर जानकारी पाकर इसके उदभेदन में सफलता हासिल कर ली है, जिले के पटोरी थाना अंतर्गत दक्षिणी धमौन के मधुपुरिया टोल में शुक्रवार की देर शाम पुलिस की टीम जब इसकी जांच-पड़ताल करने एक खेत पर गई तो थोड़ी देर के लिए पुलिस भी इस सूचना को गलत समझ बैठी, खेत के चारो ओर गेहू एवं मक्के की फसल लगी हुई थी, जबकि खेत के अंदर पुलिस गई तो वह देखकर यह भौचक रह गयी. खेत के बीच में अफीम की खेती की गयी है |

आपको बता दें कि पकड़ी गयी अफीम की फसल की कीमत लगभग साढ़े तीन करोड़ आंकी गयी है, दो भू-खंडो पर लगी अफीम फसल का मालिक मेदनी राय एवं भोनू राय की बतायी गयी है, दोनों पुलिस की आने की भनक पाकर भागने में सफल हो गये. लगभग 8 से 10 कट्ठे में यह फसल लगाई गयी थी | ग्रामीण सूत्रों का बताना है कि उक्त दोनो भू-खंडो के मालिक के द्वारा कई वर्षों से इसकी खेती की जा रही थी, इस अवैद्य खेती को छूपाने के लिए भू-खंडो के मेड़ पर चारों ओर से दूसरी फसल लगा दी जाती थी, ताकि आम लोगों तक इसकी जानकारी नहीं पहुच सके | इस संबंध में पूछे जाने पर पटोरी थानाध्यक्ष बीएन मेहता ने बताया कि यह कार्रवाई गुप्त सूचना के आधार पर की गयी है. जमीन का सही मालिक कौन है इसके लिए अंचलाधिकारी को लिखा गया है |

वैसे अभी जो दो उक्त नाम सामने आए हैं उनकी गिरफ्तारी को लिए छापामारी की जा रही है, यहां यह बता दे कि जिले के दक्षिणी क्षेत्र में खासकर गंगा किनारे रहने वाले लोगो द्वारा इस ढंग की अवैद्य खेती करने की सूचना अक्सर मिलती रहती है. लेकिन इस बार पुलिस कार्यवायी कर पहला सफलता हासिल की है.इस तरह कि जांच की जाए तो पुलिस को और भी सफलता मिलेगी |

रिपोर्ट – रंजीत कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here