‘बिहार सुरक्षित नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने भी किया स्वीकार’ – सुशील कुमार मोदी

0
130

पटना (ब्यूरो)- भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शहाबुद्दीन पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर बिहार सरकार पर निशाना साधा है| उन्होंने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से यह साफ़ हो गया है कि बिहार में कानून-व्यवस्था की ऐसी स्थिति नहीं है कि शहाबुद्दीन जैसे अपराधी को वहां रख कर उसके मामले की निष्पक्ष सुनवाई कराई जा सके|

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से नीतीश कुमार के कथित सुशासन और कानून के राज की एक बार फिर हवा निकल गई है| मोदी ने कहा कि सीवान जेल में रहते चंदा बाबू के तीसरे बेटे की हत्या कराने, गवाहों को धमकाने, आतंक कायम रखने और जेल में दरबारलगाने जैसे संगीन आरोपों के बावजूद लालू प्रसाद के दबाव में नीतीश सरकार नहीं चाहती थी कि शहाबुद्दीन को तिहाड़ जेल भेजा जाए|

इसलिए इससे संबंधित याचिका पर सरकार ने अपना कोई स्पष्ट मंतव्य नहीं दिया और चुप्पी साधे रही| इसके पहले हाईकोर्ट में जहां राज्य सरकार ने शहाबुद्दीन को बेल दिलाने में मदद की वहीं सुप्रीम कोर्ट में उसकी बेल को निरस्त कराने के लिए प्रख्यात वकील प्रशांत भूषण की पहल का इंतजार करती रही| भाजपा नेता ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद अगर नीतीश कुमार में साहस है तो लालूप्रसाद पर दबाव बना कर कई संगीन मामलों में सजायफ्ता शहाबुद्दीन को राजद से निष्कासित करायें|

इसके साथ ही जेल में शहाबुद्दीन से मिलने व दरबार लगाने वाले मंत्री अब्दुलगफूर के खिलाफ कार्रवाई करें और शहाबुद्दीन से जुड़े तीन साल से बंद पड़े सभी मामले की ट्रायल शुरू कराये |
रिपोर्ट- कुमार आशुतोष

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY