देहरादून राष्ट्रपति चुनाव के लिए उत्तराखंड विधानसभा में मतदान जारी, बिहार के विधायक वीरेंद्र कुमार सिन्हा ने भी डाला वोट

0
90

उत्तराखंड(राज्य ब्यूरो)- सुबह से ही विधानसभा में चुनाव की तैयारी पूरी कर ली गई थी। विधानसभा व आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई। दस बजे से मतदान आरंभ हुआ। सबसे पहले सुबह 10.05 बजे पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, वित्त मंत्री प्रकाश पंत के साथ बिशन सिंह चुफाल, विधायक राजेश शुक्ला ने वोट डाला। राष्ट्रपति चुनाव में आरंभिक 45 मिनट में कुल 44 विधायक मतदान कर चुके थे। बिहार के विधायक वीरेंद्र कुमार सिन्हा भी मतदान के लिए पहुंचे। वह यहां बेटे के एडमिशन के सिलसिले में आए हुए हैं। कांग्रेस की ओर से प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल ममता राकेश आदेश चौहान भी वोट डाल चुके हैं।

राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए उत्तराखंड विधानसभा में 71 विधायकों को अपने मत का प्रयोग करना है। इनमें 70 विधायक उत्तराखंड के और एक विधायक बिहार के हैं। प्रदेश के पांच लोकसभा सांसद और तीन राज्यसभा सांसद दिल्ली में मतदान करेंगे। भारत निर्वाचन आयोग की ओर से बनाए गए पर्यवेक्षक निकुंज किशोर सुंदरे मतदान के दौरान पूरी गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। सचिव विधानसभा जगदीश चंद्र रिटर्निंग आफिसर की भूमिका में हैं। मतदान में भारत निर्वाचन आयोग की ओर से उपलब्ध कराए गए विशेष पैन का ही इस्तेमाल किया जा रहा है। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी मस्तूदास ने बताया कि मतदान के बाद मतपेटी सील कर दी जाएगी। इसके बाद इसे मंगलवार को फ्लाइट से दिल्ली भेजा जाएगा।

उत्तराखंड में एनडीए प्रत्याशी का पलड़ा भारी-
राष्ट्रपति पद के चुनाव में उत्तराखंड से एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविंद को 72 फीसद से ज्यादा मत मिलने तय माने जा रहे हैं। दरअसल, उत्तराखंड के पांचों लोकसभा सांसदों के अलावा 70 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 57 सदस्य हैं। यही नहीं, दो निर्दलीय विधायकों प्रीतम सिंह पंवार और राम सिंह कैड़ा ने भी एनडीए प्रत्याशी के पक्ष में मतदान का ऐलान किया है। यानी, भाजपा को कुल 59 विधायकों का समर्थन हासिल है। उधर, कांग्रेस के पास तीन राज्यसभा सांसदों के अलावा 11 विधायकों का आंकड़ा है।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए देश में सभी सांसदों के मत का मूल्य समान होता है जबकि विधायकों के मत की कीमत हर राज्य में अलग-अलग होती है। एक सांसद के मत का मूल्य 708 है जबकि उत्तराखंड के एक विधायक का मत मूल्य 64 है। 57 भाजपा और दो निर्दलीय यानी 59 विधायकों के कुल 3776 मत राजग प्रत्याशी के पक्ष में हैं। साथ ही पांच लोकसभा सांसदों के 3540 मत भी भाजपा के पास हैं।

इस स्थिति में राज्य में कुल 10144 मतों में से 7316 मत एनडीए प्रत्याशी को मिलना तकरीबन तय है। कांग्रेस के पास राज्य में 11 विधायकों और तीन राज्यसभा सांसदों को मिलाकर 2828 मतों का आंकड़ा है। यानी यूपीए प्रत्याशी मीरा कुमार को उत्तराखंड से 2828 मत हासिल हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here