बिजली महादेव- यहाँ हर 12 सालों में एक बार गिरती है शिवलिंग पर गिरती हैं बिजली , शिवलिंग के टुकड़ों को पुजारी मक्खन लगाकर जोड़ देते हैं और फिर से बन जाता है ठोस शिवलिंग

0
2709

46

 जैसा कि हम सभी जानते हैं कि सभी जानते हैं कि भारतवर्ष में देवाधिदेव महादेव के अनेकों मंदिर हैं जिन्हें प्रतिवर्ष करोणों श्रद्धालु बहुत ही भक्ति के साथ दर्शन करते हैं लेकिन सबसे अधिक तीर्थों, मंदिरों, देवस्थानों की बात करें तो वह हैं हिमांचल प्रदेश में यही कारण हैं कि हिमाचल को देवभूमि के नाम से भी जाना जाता है I

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में स्थित एक ऐसा ही महादेव का मंदिर है जिसे पूरी दुनिया में बिजली महादेव के नाम से जाना जाता है I कुल्लू घाटी के लोगों की मान्यता के आधार पर कहा जाता है कि यह पूरी घाटी एक विशाल काय सांप के आकार में बसी हुई है I और जिस सांप के आकार में यह घाटी बसी हुई है उस सांप का वध स्वयं भोले नाथ देवधि देव महादेव ने किया था I आज जानते हैं कि इस घाटी का नाम कैसे पड़ा कुल्लू और क्यों मारा था भगवान् शंकर ने उस सांप को I

 कुलांत नामक राक्षस के नाम पर पड़ा कुल्लू नाम –

लोगों की ऐसी मान्यता है कि जिस क्षेत्र में आज कुल्लू घाटी बसी हुई है वहां पर कभी कालांतर में कुलांत नामक एक राक्षस रहा करता था I एक बार वह राक्षस कुल्लू के पास की नागणधार से अजगर का रूप धारण कर मंडी की घोग्घरधार से होता हुआ लाहौल स्पीति से मथाण गांव आ गया। और उस राक्षस के रूप में भयंकर अजगर ने पास ही बह रही ब्यास नदी की धारा में कुंडली मारकर बैठ गया और उसने नदी के प्रवाह को रोकने का प्रयास किया I इस प्रवाह को रोकने के पीछे उस दैत्य का बहुत बड़ा मकसद था उसने सोचा की अगर नदी की धरा को रोक दिया जाएगा तो वहां पर रह रहे सभी जीवधारी नदी के जल में डूबकर मर जायेंगे और उसे कई दिनों तक आहार की कमी नहीं होगी I

bijli mahadev mandir kullu 2

लेकिन उस राक्षस की इस हरकत से भोले नाथ को काफी क्रोध आया और उन्होंने धीरे उसके पास आये और बहला फुसला कर उसके कान में धीरे से कहा कि तेरी पूँछ में आग लग गयी है I जैसे ही दैत्य ने यह सुना उसने अपनी पूँछ को फैलाया और उसे देखने के लिए घूमा जैसे ही उसने अपना सर दूसरी तरफ किया भोले नाथ ने अपने त्रिसूल से उसका वध कर दिया I वह इतना विशाल काय था कि जहाँ पर उस राक्षस का वध हुआ उस स्थान पर एक पहाड़ बन गया जिसे कुल्लू कहा जाता हैं I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

three × 2 =