पीपापुल पर उछली बाइक से गंगा में गिरा मासूम, बचाने को चाचा भी कूदा हादसे में दोनों की मौत

0
112

प्रतीकात्मक

भदोही ब्यूरो : 03 अप्रैल ।उत्तर प्रदेश के भदोही ज़िले में रामपुर गंगा घाट पर बने पीपापुल पर सोमवार की शाम चार बजे चलती बाइक से मासूम सीधे गंगा में जा गिरा ।उसे बचाने के लिए चाचा भी गंगा में कूद पड़ा । लेकिन इस खौफनाक हादसे में मासूम भतीजे और चाचा दोनों की मौत हो गई ।सूचना पर पहुँची पुलिस ने गोताखोरो की मदद से जाल लगा दोनों के शव को गंगा से बहार निकाला । घटना की वजह लोक निर्माण विभाग की लापरवाही बताई जा रहीं है ।

भदोही जिले के ज्ञानपुर कोतवाली के जगापुर गाँव की दलित बस्ती से जितेंद्र कुमार (25) अपनी पत्नी रेखा (22) और बेटे समीर (9) माँ सावित्री देवी (52) और भाई विमल (23) के साथ मिर्ज़ापुर के गड़बड़ा धाम बाइक से दर्शन करने गए थे । एक बाइक पर जितेंद्र और उसकी पत्नी रेखा बैठी थी जबकि दूसरी बाइक उसका भाई विमल चला रहा था। उस पर उसकी माँ सावित्री देवी और भतीजा समीर बाइक की टंकी पर बैठा था । सभी
अमृतलाल के बहू – बेटे पोता और पत्नी थी । उनकी मौत हो चुकी है ।

दर्शन के बाद सभी शाम चार बजे घर लौट रहे थे ।  मिर्जापुर – भदोही को जोड़ने वाले गोपीगंज के रामपुर गंगा घाट पर बने पीपापुल पर विमल की बाइक गुजर रहीं थी । तभी एक उखडे चकरप्लेट के चलते उसकी बाइक उछल गई । जिसकी वजह से बाइक की टंकी पर बैठा मासूम समीर सीधे बीच गंगा में चला गया । इस घटना से विमल विचलित हो गया और मासूम भतीजे को बचाने के लिए सीधे गंगा में छलाँग लगा दिया । इस दौरान घटना स्थल पर मौजूद विमल की माँ बेटे और पोते को बचाने का प्रयास किया। साहस का परिचय दिखते हुए उसने अपनी साड़ी डाल दिया और बेटे को साड़ी पकड़ने की गुहार लगाती रहीं । लेकिन पानी का बहाव तेज़ होने और अधिक गहराई की वजह से दोनों गंगा में डूब गए ।घटना की ख़बर लगते ही तहसीलदार और पुलिस गोताखोरो के साथ पहुँच गई ।काफी प्रयास के बाद चाचा और मासूम भतीजे का शव जाल के जरिए बहार निकाला गया। इस घटना की वजह लोक निर्माण विभाग को बताया जा रहा है ।क्योंकि बिखरी चकर प्लेटों की वजह से यह घटना हुई। अगर प्लेटों को सही तरीके से बिछाया गया होता तो इस तरह की घटना न होती ।

रिपोर्ट–राजमणि पाण्डेय

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here