छत्तीसगढ़ – गायों को काटने के मामले में पुलिस ने 4 लोगों को हिरासत में लिया

0
342

छत्तीसगढ़ – छत्तीसगढ़ के सिरगिट्टी थाना क्षेत्र में कल सुबह रविवार को गौ-हत्या और गाय के मांस को बेचने के आरोप में छत्तीसगढ़ पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है | इन चारों लोगों के ऊपर पुलिस ने इंडियन पीनल कोड की धारा 295 ए- 35 के तहत गिरफ्तार किया गया है |  इन लोगों के पास से पुलिस ने 20 किलो गाय का मांस भी जब्त किया है |

इसे भी पढ़ें – क्या कहती है इंडियन पीनल कोड की धारा 295 ए

पुलिस ने आरोपियों को बताया है चर्मकार –
बता दें कि हालाँकि पुलिस ने बजरंग दल आदि के लोगों के दबाव में आकर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन पुलिस ने यह भी बताया है कि आरोपी ब्यक्तियों ने गाय की हत्या नहीं की है वो गाय की मौत पहले ही हो चुकी थी |  पुलिस के अनुसार जिन 4 लोगों को उन्होंने गिरफ्तार किया है वो चारों चमड़ा उद्योग से जुड़े है और वो चर्मकार है | पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया है ये सभी हरदीकला के रहने वाले है और इनके नाम लक्ष्मी प्रसाद, लक्ष्मी नारायण, जितेन्द्र रोहिदास और शिव प्रसाद बताये जा रहे है  |

और पढ़ें – जानें क्या कहती है इंडियन पीनल कोड की धारा 35

चमड़ा उद्योग है एक पुराना ब्यवसाय –
बता दें कि जिन चारों लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वे सदियों से चली आ रही पुरानी ब्यवस्था के तहत ही कार्य कर रहे थे | इन लोगो ने रिहायशी इलाके में एक गाय जिसकी मौत अपने आप से ही हो गयी थी उसे उठाकर लाये थे और उसे एक खुले खेत में काटने लगे थे जिसके बाद बजरंग दल के कुछ कार्यकर्त्ता वहां पर पहुचं गए और उन लोगों ने बवाल खड़ा कर दिया जिसके बाद मौके पर पुलिस बल भी पहुँच गया जिसके बाद चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया और पुलिस को उनके पास 20 किलो मांस भी बरामद हुआ है | पुलिस ने अपनी तफतीस में भी यही पाया है कि गाय पहले से ही मृत थी |

ज्ञात हो कि पहले से ही हमारे समाज में कुछ लोग ऐसे थे जो पहले ही चमड़ा उद्योग से जुड़े हुए थे और यही वो लोग है जो हमारे रिहायशी इलाकों में जानवरों के मरने के बाद उन्हें उठाकर बाहर लेकर जाते थे और इनकी खाल को निकालकर जूते आदि का निर्माण करते थे यह एक पुरानी ब्यवस्था थी | जिसके तहत इन लोगों का रोजगार भी चलता था और इलाके में मरने वाले जानवरों की लाशें भी सड़ने से बच जाती थी |  लेकिन इस तरह की घटनाएं ऐसे लोगों का मनोबल तोड़ सकती है और फिर क्या होगा यह कोई नहीं जनता क्योंकि इस वैकल्पिक उपाय तो अभी तक सूझता हुआ नहीं दिख रहा है |
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY