सरकारी खाद्यान्न की दुकानों पर लगाई जा रही हैं बायोमैट्रिक मशीनें

0
109


जालौन (ब्यूरो) खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा संचालित सरकारी खाद्यान्न की दुकानों में शासन की मंशा के अनुरूप पारदर्शिता लाने के लिए बायोमेट्रिक मशीनें लगाई जा रही हैं। जिनके माध्यम से लाभार्थियों को खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। ऐसा न करने वाले कोटेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह बात जिलापूर्ति अधिकारी वीके महान ने नगर के कोटेदारों से उनके कोटों के निरीक्षण के दौरान कही।

जिला पूर्ति अधिकारी वीके महान ने बताया कि शासन द्वारा खाद्यान्न वितरण में पारदर्शिता लाने एवं राशन कार्ड धारकों को खाद्यान्न व मिट्टी के तेल वितरण के नाम पर हो रही कालाबाजारी को रोकने के लिए जिले में प्रथम चरण में 168 बायोमेट्रिक मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं। इन मशीनों को जनपद की पांचों तहसीलों में लगाया जा रहा है। आॅनलाइन वितरण व्यवस्था के तहत लगाई जा रही मशनों से प्रत्येक राशनकार्ड धारक को खाद्यान्न खरीदने पर ए पर्ची मिलेगी। जिसमें खाद्यान्न की मात्रा एवं मूल्य का पूरा विवरण अंकित होगा। उन्होंने कार्ड धारकों से अपील की कि खाद्यान्न लेने के बाद पर्ची अवश्य प्राप्त कर लें। उन्होंने बताया कि जालौन तहसील में नगर समेत 22 कोटेदारों के यहां बायेमेट्रिक मशीनें लगाई जा रही हैं। इस दौरान जिला पूर्ति अधिकारी ने कोटेदार महेंद्र सिंह जाटव एवं गिरजा देवी के यहां लगी बायोमेट्रिक मशीनों से खाद्यान्न के वितरण का शुभारंभ कराया। उन्होंने कोटेदारों से कहा कि खाद्यान्न व मिट्टी के तेल के वितरण का रजिस्टर भी बनाकर रखें ताकि कोई तकनीकी खराबी होने पर मौके पर परेशानी न हो एवं सर्वर न आने पर उपभोक्ताओं को खाद्यान्न एवं मिट्टी का तेल प्राप्त करने में कोई परेशानी न हो।

रिपोर्ट – अनुराग श्रीवास्तव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY