सीओ को रिलीव कराने के लिए सक्रिय हुए भाजपाई

0
46

जालौन(ब्यूरो)- लंबे समय से अपनी कार्यशैली के चलते लगातार सुर्खियां बटोर रहे उरई सीओ का स्थानांतरण तो हो गया है, पर अंदरखाने की खबर यह है कि उनका स्थानांतरण रुकवाने के लिए प्रयास भी शुरू हो गए हैं। कहीं यह खबर हकीकत न हो जाए, इसे लेकर भाजपाई भी चौकन्ने नजर आ रहे हैं। भाजपा के नेता हाथ आए इस मौके को हाथ से जाने नहीं देना चाह रहे हैं। यही कारण है कि भाजपा के जनप्रतिनिधियों से लेकर कई बड़े नेता तक सीओ के स्थानांतरण मामले पर पल-पल निगाह रख रहे हैं। सीओ के स्थानांतरण के बाद अब उन्हें रिलीव कराने के लिए पहल शुरू कर दी गई है। इसे लेकर रविवार को सदर विधायक ने झांसी रेंज के डीआईजी से बात भी की और कहा कि अगर रिलीव नहीं किया गया तो इस संबंध में डीजीपी से भी बात की जाएगी।

बताते चलें कि उरई सीओ करीब छह माह से अधिक समय से उरई क्षेत्राधिकारी के रूप में तैनात हैं। तैनाती के साथ ही उनका विवादों से चोली-दामन का साथ शुरू हो गया था। अपने छह माह से अधिक के कार्यकाल में उन्होंने लगातार अपनी विवादित कार्यशैली को लेकर सुर्खियां बटोरीं। अंदरखाने उनकी पकड इतनी मजबूत रही कि इन्हें यहां से हटवाने के लिए भाजपाइयों ने भी ऐढी-चोटी का जोर लगा दिया था। तब जाकर 100 दिनों की कडी मेहनत के बाद शनिवार को शासन द्वारा जारी क्षेत्राधिकारियों के स्थानांतरण की लिस्ट में उरई सीओ को भी शामिल किया गया था। उन्हें उरई से हटाकर झांसी जनपद भेज दिया गया है। उरई सीओ के स्थानांतरण के बाद अब सबकी निगाहें उनके रिलीव होने पर टिक गई हैं।

अंदरखाने की खबर यह भी है कि यह स्थानांतरण रुकवाने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। इसे लेकर भाजपाई भी चौकन्ना हेा गए हैं। इसे लेकर रविवार को भाजपा के सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा ने झांसी रेेंज के डीआईजी से भी फोन पर वार्ता की और उन्हें उरई सीओ की कारगुजारियों के बारे में बताया। सदर विधायक ने कहा कि उरई सीओ का स्थानांतरण हो चुका है। इसलिए उन्हें तत्काल रिलीव किया जाए ताकि जिले से उनकी विदाई हो सके। इस पर डीआईजी ने उन्हें तत्काल रिलीव कराने का आश्वासन दिया है। इसके अलावा भाजपा के कई अन्य बडे नेता भी इस प्रयास में जुटे हैं कि किसी भी तरह यह स्थानांतरण न रुक पाए और उरई सीओ को तत्काल रिलीव किया जाए ताकि क्षेत्र की जनता को चैन की सांस लेने का मौका मिल सके। इस संबंध में सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा ने बताया कि उरई सीओ को रिलीव कराने के लिए डीआईजी से बात हुई है। अगर जल्द ही उन्हें रिलीव न किया गया तो इसे लेकर डीजीपी से बात की जाएगी और उन्हें जिले से जल्द ही रिलीव कराया जाएगा।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY