ललित मोदी मामले में आया नया मोड़ भाजपा ने किया कांग्रेस पर पलटवार

0
177
प्रतीकातमक फोटो
प्रतीकातमक फोटो

परनामी ने कल देर रात यहां जारी एक बयान में कहा, ‘‘अशोक गहलोत किस मुंह से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं जब उन्होंेने अपने ही विधायकों की ओर से लगाये गए भ्रष्टाचार के आरोप के बाद और उन बलात्कार के मामलों के बाद इस्तीफा नहीं दिया था जिसमें कथित तौर पर उनके दो मंत्री और विधायक शामिल थे।’’ उन्होंने गहलोत शासन के चर्चित भंवरी देवी मामले को याद करते हुए कहा, ‘‘वह भंवरी देवी अब कहां है, वह दलित महिला जिसकी कथित तौर पर हत्या कर दी गई थी और एक पूर्व कांग्रेसी मंत्री एवं विधायक मामले में आरोपी थे और वर्तमान में जेल में हैं। जांच एजेंसियां उसका अभी भी पता नहीं लगा पायी हैं। कांग्रेस के एक और पूर्व मंत्री बलात्कार के आरोप में जेल में हैं।’’ परनामी ने कहा, ‘‘गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत ने 100 रूपये का शेयर मारीशस की एक कंपनी को 40 हजार रूपये में बेच दिया। गहलोत ने बहुमूल्य खदान अपने रिश्तेदारों को आवंटित कर दी। जब उन मामलों का खुलासा हुआ तो गहलोत ने इन मामलों पर अपना इस्तीफा क्यों नहीं दिया।’’ उन्होंने कहा कि गहलोत कैसे वसुंधरा राजे के खिलाफ अपनी आवाज उठा रहे हैं जब उन्होंने क्रमश: 2013 और 2014 में हुए विधानसभा और लोकसभा चुनावों में शर्मनाक हार का सामना किया है।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे कथित तौर पर पूर्व आईपीएल आयुक्त ललित मोदी के पक्ष में एक हलफनामा देने के लिए विवाद में घिरी हैं। ललित मोदी आईपीएल टूर्नामेंट के आयोजन के संबंध में कथित धनशोधन मामले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रहे हैं। data input –PTI Bhasha