बीजेपी आईटी सेल का संचालन पाकिस्तान के खुफिया एजेंसी आईएसआई के मुख्यालय से हो रहा है – विकास तिवारी

0
192

रायपुर (ब्यूरो)- छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि मध्यप्रदेश बीजेपी आईटी सेल के एक कद्दावर नेता का आईएसआईएस कनेक्शन के खुलासे के बाद सकपकाई बीजेपी पार्टी ने अपने सभी आईटीसेल के नेताओं हर तीसरे माह में बैठक रखने और उनके चाल, चरित्र, चेहरा परखने का स्वांग जनता और मीडिया जगत के सामने कर रही है।

जबकि बीजेपी का पाकिस्तान प्रेम उसी दिन उजागर हो गया था जब पूर्व उपप्रधानमंत्री श्री लालकृष्ण आडवानी पाकिस्तान जाकर मो. अली जिन्ना के मजार में अपने शीश नवाये थे और पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी पाकिस्तान जाकर लाहौर में पाकिस्तान के गुणगान कर रहे थे और अभी वर्तमान के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी प्रोटोकाल का उल्लंघन करके पाकिस्तान जाकर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की वालिदा के पांव छूकर अपने पाकिस्तान प्रेम का सबूत दिया था। पूरी बीजेपी सत्ता में आने के बाद पाकिस्तान के प्रति प्रेम दिखाने की होड़ सी मची रहती है।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि बीजेपी के वर्तमान आईटीसेल के कद्दावर युवा नेता अपने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के पद चिन्हों पर चलते हुये आईटीसेल विभाग का संचालन अपने पाकिस्तान में बैठे आईएसआई के आकाओं के मार्गदर्शन पर करते है। बीजेपी आईटीसेल अपनी सभी गतिविधियों और जानकारियों को पाकिस्तान भेजते है। लगातार बीजेपी आईटीसेल के कई बड़े और युवा नेता आईएसआई के संपर्क में रहते है और उनके घोषित एजेंट के रूप में कार्य करते है।

बावजूद इन गंभीर और देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाले विषयों के जांच करने की जगह भारतीय जनता पार्टी अपने आईटीसेल नेताओं के देशद्रोह संबंधित गतिविधियों पर पर्दा डालने लग गयी है और आईटीसेल के नेताओं के इन देशद्रोही गतिविधियों को राष्ट्रभक्ति का चोंगा ओढ़ाने में जुट गयी है।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के आईटीसेल विभाग का संचालन पाकिस्तान के खुफिया एजेंसी आईएसआई के मुख्यालय से संचालित होता है और बीजेपी आईटीसेल के बड़े नेता इनके एजेंट बनकर लगातार एवं रोजाना महत्वपूर्ण जानकारियों का आदान-प्रदान पाकिस्तान को भेज रहे है जो कि भारत वर्ष की सुरक्षा पर गंभीर चिंता का विषय है। पंजाब के पठानकोट स्थित मिलिट्री बेस कैंप में पाकिस्तान द्वारा किये गये हमले से भारतीय सेना के कई जवान शहीद हुये थे, जबकि पंजाब प्रांत में बीजेपी और अकाली दल की सरकार थी।

विकास तिवारी ने कहा कि भारतीय सुरक्षा जांच एजेंसियों को इस बात का अभी तकसीद से जांच करना चाहिये कि कहीं बीजेपी आईटीसेल पंजाब प्रांत के नेताओं का संपर्क पाकिस्तान के खुफिया एजेंसी आईएसआई से नहीं था और वो हमले के दौरान पाकिस्तान के संपर्क में तो नहीं थे। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को भारतीय जनता पार्टी के हर प्रदेश इकाई के आईटीसेल विभाग की सूक्ष्मता से जांच करनी चाहिये और बीजेपी के युवा आईटीसेल नेताओं का पाकिस्तान संपर्क को उजागर करना चाहिये, जिससे की पाकिस्तान भारत की सुरक्षा पर सेंध न लगा सके। प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि इस गंभीर विषय पर भारत वर्ष के महामहिम राष्ट्रपति एवं सुप्रीमकोर्ट के माननीय मुख्य न्यायधीश को पत्र लिखकर जांच करने की मांग करेंगे।
रिपोर्ट- हरदीप छाबड़ा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here