BJP सुब्रमण्यम स्वामी ने दी मुस्लिमों को सलाह: मस्जिद की बात मान ले मुस्लिम अन्यथा 2018 में बना देंगे राम मंदिर के लिए कानून

0
488

नई दिल्ली (ब्यूरो)- राम मंदिर बाबरी मस्जिद मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर देश के मुस्लिमों को सलाह दी है कि वह या तो उनकी सरयू पार मस्जिद बनाने की सलाह को मान लें अन्यथा 2018 में वह एक कानून बनाकर राम मंदिर बनाने के रास्ते को साफ कर देंगे।

जहां रामलला है विराजमान वहीं है राम जन्म भूमि – स्वामी
भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एक अन्य ट्वीट करते हुए कहा है कि 1994 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा जिस जगह को राम जन्म भूमि करार दिया था वहां पर रामलला विराजमान है और कोर्ट के निर्देशानुसार प्रतिदिन वहां उनकी पूजा होती है। धमकी भरे लहजे का इस्तेमाल करते हुए स्वामी ने आगे कहा है कि क्या कोई उन्हें वहां से हटा सकता है?

राम जन्मभूमि का मामला बहुत ही संवेदनशील है -सुप्रीम कोर्ट
गौरतलब है कि मंगलवार को सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका पर सुनवाई करते हुए देश की सर्वोच्च न्यायालय ने कहा था कि राम मंदिर बहुत ही संवेदनशील मुद्दा है और इसका हल कोर्ट के बाहर बातचीत के जरिए ही निकाल लिया जाना चाहिए चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने यहां तक कहा था कि यदि जरूरत पड़ती है तो सुप्रीम कोर्ट इस मामले में मध्यस्थता करने के लिए भी तैयार है।

सुप्रीम कोर्ट के इस प्रस्ताव का भारतीय जनता पार्टी सहित कई भगवा दलों ने स्वागत किया था जबकि भारत सरकार ने भी इस मामले का स्वागत किया था लेकिन बाबरी एक्शन कमेटी ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया और कहा था कि सुप्रीम कोर्ट जो भी निर्णय लेगा वह हमें मान्य होगा लेकिन कोर्ट के बाहर किसी भी प्रकार का कोई भी समझौता संभव नहीं है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY