ढह गया भाजपा युवा मोर्चा मंडल के अध्यक्ष का मकान, प्रधानमंत्री आवास योजना के माकन के लिए लगायी गुहार

0
164


हसनगंज/उन्नाव (ब्यूरो) स्थानीय कसबा में बीती रात में भीषण बारिश के दौरान भाजपा युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष का कच्चा मकान भरभरा कर गिर गया, परिजन बाल-बाल बच गये । जिससे छत विहीन होने से मुसीबत हो गयी है, पीड़ित ने उपजिलाधिकारी हसनगंज को प्रार्थना पत्र देकर प्रधानमंत्री आवास योजना में आवास दिलाने की गुहार की है। मोहान विधानसभा के युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष हसनगंज का जर्जर मकान बारिश के चलते गिर गया जिससे खुले आसमान के नीचे परिवार रहने को मजबूर है। जबकि पीड़ित ने कई बार खंड विकास अधिकारी को पत्र देकर आवास दिलाने की माँग कर चुका था।

हसनगंज निवासी आनंद सैनी का मकान कच्चा व जर्जर अवस्था में था। लेकिन गरीबी रेखा नीचे जीवन यापन करने वाला परिवार बी.पी.एल. सूची में शामिल नहीं हो सका। जिससे पकके मकान वाले लेन देन कर इंदिरा आवास योजना में लाभ लेने मे सफल रहे हैं, लेकिन पिछड़े वर्ग का होने के बाद भी तमाम सरकारें आयी फिर भी लाभ नही मिल सका। आनंद के पिता गंगाराम की मौत 6 वर्ष पूर्व में हो गई थी आनंद जाति का माली होने से पिता की मौत के पश्चात आनंद व उसकी माँ घरों में फूल बांट कर अपना जीवन यापन कर रहे थे और किसी तरह से अपने परिवार को पाल रहे थे इतनी सरकार आई लेकिन किसी भी सरकार से आंनद के परिवार को कोई आवासीय योजना का लाभ नहीं मिल पाया है, जबकि वो इस योजना का पात्र हैं फिर भी ग्राम प्रधानों व ग्राम विकास अधिकारियों की नजर इस गरीब परिवार पर नहीं पड़ी जबकि अन्य अपात्रों के नाम आवासीय योजना के लिस्ट में नाम चढ़े हुए हैं, लेकिन आनंद के परिवार का नाम दर्ज नहीं हो सका, जिससे मकान अभी भी कच्चा व जर्जर बना हुआ था। बीती रात में तेज बारिश होने लगी जिसमे मकान गिर गया । गनीमत ये रही कि उस कमरे में कोई नहीं था अन्यथा कोई बडा हादसा भी हो सकता था अब आनंद के पास सिर्फ एक कोठरी ही बची है वो भी जर्जर अवस्था मे है जिसकी छत के नीचे परिवार गृहसथी बटोर कर रखेगे।

पीड़ित भाजपा कार्यकर्ता की माँ ने भाजपा की सरकार मे शायद अब आशियाना मिलने की उममीद लेकर उपजिलाधिकारी हसनगंज के कार्यालय में दी है, उधर खंड विकास अधिकारी गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले की पात्रता के सवाल पर पर बताया की आनंद के परिवार के सदस्यों का नाम आवासीय योजना की सूची में दर्ज नहीं है लेकिन नई सूची में नाम बढ़वाकर आवास दिलाने की कोशिश की जाएगी ।

रिपोर्ट – राहुल राठौर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here