अमेठी में शिक्षा का काला कारोबार, शिक्षा माफियाओं के आगे नतमस्तक प्रशासन

0
339
प्रतीकात्मक

अमेठी (ब्यूरो)- इस समय पूरे सूबे में शिक्षा माफिया सक्रिय हैं। माफियाओ से निपटने के लिए प्रदेश की योगी सरकार ने एक अभियान छेड़ रखा है। आज इसी क्रम में जिला विद्यालय निरीक्षक अमेठी ओमप्रकाश मिश्रा ने जगदीशपुर विकास खंड क्षेत्र में चल रहे कुछ अवैद्ग स्कूलो की चेकिंग की जिसके बाद श्री मिश्र ने बताया कि वह अपनी टीम के साथ आज मुसाफिरखाना तहसील के विकास खंड जगदीशपुर के वारीसगंज ,रानीगंज और जगदीशपुर क्षेत्र में चल रहे अवैध स्कूलों की जांच की| जिसमें मसूद साइंस इंटर कॉलेज के संचालक वसीम अहमद मिले जिन्होंने बताया कि उनका विद्यालय रानी लक्ष्मीबाई शिक्षण संस्थान कुमारगंज से संबंध है| उनके यहां कक्षा नौ में 25 कक्षा 10 में 27 कक्षा 11 में 22 कक्षा 12 में 22 छात्रों का प्रवेश हुआ है। बाल बिहारी शिक्षण संस्थान धर्म गत पुर जामो में टीम ने कक्षा नौ में 47 कक्षा 10 11 में 36 12 में 42 छात्रों का दाखिला पाया उन्होंने बताया कि इनका संबंध मोहाली इंटर कॉलेज से है| विद्यालय में सुरेश चंद्र उपाध्याय मिले ।

जय बजरंग पब्लिक स्कूल पूरे खुशहाल भी मान्यता से ज्यादा प्रवेश देकर शिक्षा देने का कार्य कर रहे थे| इस में कुंभज तिवारी के रूप में संचालक मिले| सभी विद्यालय कक्षा 8 तक मान्यता प्राप्त है । लखपत सरस्वती विद्या ज्ञान मंदिर वारिस गंज जिस की मान्यता कक्षा 5 तक है| उनके यहां भी कक्षा 5 से ऊपर दाखिला लिया जा रहा था जिस के संचालक शिवप्रसाद है| बी के कानवेंट रानीगंज जिस की मान्यता कक्षा आठ तक है वहां पर कक्षा 12 तक प्रवेश लेकर कक्षा बारहवीं तक की शिक्षा दी जा रही थी जिसमें कक्षा नौ में 40 कक्षा 10 में 60 कक्षा 11 में 22 कक्षा 12 में 07इसके संचालक धर्मवीर सिंह हैं । ज्ञानोदय विद्या मंदिर रानीगंज जिस की मान्यता कक्षा पांच तक है इसमें कक्षा 10 तक प्रवेश लेकर संचालन किया जा रहा था कक्षा 6 में 25 7 में 25 8 में 25 9 में 20 10 में 20 इसके संचालक राकेश कुमार रस्तोगी है ,एजी पब्लिक स्कूल कक्षा 12 तक संचालित किया जा रहा था| इसकी कोई मान्यता नहीं थी इसका संचालन वीर बहादुर उपाध्याय द्वारा किया जा रहा था जिस में कक्षा नौ में 15 कक्षा 10 में भी 20 कक्षा 11 में आठ कक्षा 12 में छह यहां अध्यापक किशन कुमार ने बताया था। ब्रिलियंट एकेडमी जगदीशपुर जिसके संचालक मुकुल है कक्षा 9 में 20 और कक्षा 11 में 10 बच्चे मिले जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा सूचना दी गई कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक द्वारा निर्देश दिया गया है कि अवैध रूप से संचालित शिक्षण संस्थाओं को जुर्माना लगाया जाए और दोबारा मिलने पर ऐसे शिक्षण संस्थान के संचालकों के विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करवाई जाए| तीन दिवस के अंदर ऐसे छात्र शिक्षण संस्थाओं में पढ़ने वाले छात्रों व छात्राओं को बगल के किसी शासकीय अथवा मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश अवैध शिक्षण संस्थान चलाने वाले संचालकों द्वारा करवाया जाए, जिला विद्यालय निरीक्षक अमेठी ओम प्रकाश मिश्र ने सभी अवैध पकड़े गए|

शिक्षण संस्थान के संचालकों और उनके प्रतिनिधियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है जिसमें उनको 7 दिन के अंदर जवाब देने को कहा गया है। यही नही छात्रो से मोटी रकम फीस के रूप में वसूली जाती है और छात्रवृति भी हड़प ली जाती है। फ़िलहाल इस तरह की जाँच पहली बार नहीं है अब देखें यह है कि जैसा की योगी सरकार की मंशा है की अवैध कार्य नहीं होने पायेगे कोई कार्यवाही होती है या फिर सफेदपोशो की सरपरस्ती में यह अवैध शिक्षा माफियाओ का कारोबार फलता-फूलता रहेगा।

रिपोर्ट- हरि प्रसाद यादव⁠⁠⁠⁠

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here