गन्दगी से पटा पड़ा हैं ब्लॉक

0
59

बछरावां/रायबरेली (ब्यूरो) प्रधानमंत्री का स्वच्छता अभियान बछरावां पहुंचते-पहुंचते धड़ाम हो गया है। ग्राम पंचायतों में तो दूर की बात है ब्लाक परिसर में ही गंदगी का साम्राज्य फैला हुआ है। सफाईकर्मी सफाई करने के बजाय कार्यालय में बैठकर गपशप में मशगूल रहते हैं। स्व

च्छता अभियान को लेकर शासन-प्रशासन देश व प्रदेश में भले ही ठोस कदम उठा रहा हो। किंतु बछरावां ब्लॉक में सफाई कर्मियों की तानाशाही के चलते सफाई व्यवस्था तार-तार हो रही है। चिराग तले अंधेरा की कहावत ब्लाक कार्यालय में चरितार्थ हो रही है। जहां 53 ग्राम पंचायतों के लिए 63 सफाई कर्मी तैनात हैं और वह गांव में पहुंचने के बजाय ब्लाक कार्यालय में ही बैठकर गपशप में मशगूल रहते हैं। ब्लाक कार्यालय में 63 सफाई कर्मचारियों की मौजूदगी के बाद भी ब्लाक परिसर व ब्लाक कार्यालय गंदगी से पटा पड़ा है। जब ब्लाक कार्यालय की यह दुर्दशा है तो ग्राम पंचायतों का आलम क्या होगा यह सोचने का विषय है।

विकासखंड की 53 ग्राम पंचायतो में नालियां बजबजा रही हैं। सड़कों पर कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। जिससे संक्रामक बीमारियों के उत्पन्न होने का खतरा बढ़ रहा है। गंदगी से निकल रही दुर्गंध से गांव वासियों का जीना दुश्वार हो गया है। क्षेत्रवासी राकेश पटेल, अहिबरन सिंह, सुरेश पटेल, वीर प्रकाश चौधरी का कहना है कि गांवों में तैनात सफाई कर्मचारी ब्लाक में अधिकारियों की सेवा में लगे रहते हैं। गांव में पहुंचकर कभी भी साफ सफाई नहीं करते हैं। जब हमारे बछरावां संवाददाता ने इस सम्बन्ध में बीडीओ से को अवगत कराया तब बीडीओ सरिता गुप्ता ने कहा कि सफाई कर्मी गांवों में पहुंचकर सफाई कर रहे हैं हमें ऐसी कोई भी शिकायत नहीं मिली है

रिपोर्ट – अनुज मौर्य/अनूप सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY