नर्सिंग होम एक्ट के तहत बी.ऍम.एस. डॉक्टरों पर हो रही कार्यवाही को लेकर सरकार की आलोचना की

0
96
प्रतीकात्मक

डोंगरगढ़(छत्तीसगढ़ राज्य ब्यूरो)- डोंगरगढ़ नगरपालिका अध्यक्ष तरुण हथेल ने कहा कि आए दिन कालेज खोले जा रहे है| बड़े बड़े विज्ञापन छपाए जा रहे है, बीएमस कोर्स कराये जा रहे है, छात्र,छात्राओं के लाखो रूपये इस पढ़ाई में खर्च होते है| गरीब, पिछड़े, बच्चे इसमें ज्यादा शोषित हो रहे कई अंचल है जहाँ ऍम बी बी एस, एमडी, सेवा से लोग वांछित रहते है और सही समय में इलाज नही मिलने से या तो मौत हो जाती है या गम्भीर बीमारी के शिकार हो जाते है| इसमें सरकार पूरी तरह नाकाम है, विफल है| आम ग्रामीण, आदिवासी, दलितों, पिछड़ा वर्ग के लोग ज्यादा निवास करते है गाँवो में, जहाँ न पिने को पानी, रोड, सफाई, शिक्षा ,स्वास्थ, रोजगार का कोई साधन नही होता ये बच्चे बीएमस की पढ़ाई करके इन छेत्रो में सेवा देते है|

तरुण ने कहा मुझको यकीन है कि प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिँह को कोई आंतरिक शक्ति है जो कई मामलो में जमीनी सच्चाई से गुमराह कर रही है| इस विषय में सरकार को गम्भीरता विचार करना होगा नहीं तो प्रदेश की स्वास्थ्य सेवा आने वाले समय में एक बहुत बड़ी चुनौती का रूप ले लेगी| फिर से बीमारू राज्य बनाने का षंड्यंत्र रचा जा रहा है तरुण हथेल ने कहा इसका सरकार आकलन देखे कि जितनी मौत या गम्भीर बीमारी गलत इलाज इनके इलाज से कम होती है| ऍम बी बी एस, एमडी, विदेशी पध्दति के गलत इलाज से ज्यादा होती है, जो करोड़ो रुपये खर्च करके 10 से 15 साल पढ़ाई करके डिग्री लेगा तो वह कैसी सेवा करेगा उसकी पूरी सेवा ही में प्रश्न के घेरे मे होती है| फ़ीस, ऑप्रेशन ,जाँच, दवाई आम जनता की सेवा से कोसों दूर हो जाती है|

उन्होंने कहा कि मेरा सभी ऍम बी बी एस , एमडी डाँक्टर ऐसा है यह आरोप नही है, जिन डॉक्टरों को विदेश की पध्दति व धरती से प्यार है वो तो गलत इलाज करके ही रुपये कमाते है| जो देश वासी ऍम बी बी एस , एमडी होने के बाद जिनको भारत से प्यार है वह सच्ची सेवा में निरन्तर लगे रहते है| ऐसे डॉक्टरों की भी कमी नही है हिंदुस्तान की जमींन में तरुण हथेल ने कहा हम संवैधानिक लड़ाई सरकार व् न्यायपालिका में लड़ेंगे क्यों की इन डॉक्टरों के रोजगार के साथ साथ आम जनता के स्वास्थ की भी लड़ाई है| इस विषय को लेकर पहले मुख्यमंन्त्री डॉ रमन सिँह से मिलेंगे, अगर न्याय नही मिला हाईकार्ट, सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खट खटाएंगे| हमे भरोसा है हमे न्याय जनहित को देखकर मिलेगा|

रिपोर्ट- हरदीप छाबड़ा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY