महिलाओं के कपड़े पहनने के ढंग की वजह से होते है रेप – चंद्रकांत पालव याचिकाकर्ता

0
337

инструкция по эксплуатации посудомоечной машины whirlpool मुंबई – बॉम्बे हाईकोर्ट में एक वकील ने देश में आजकल बढ़ रहे रेप के मामलों को लेकर एक बहुत ही अजीबो गरीब तरह का बयान दिया है I याचिकाकर्ता वकील ने अपनी तरफ से दायर एक याचिका में कहा है कि समाज में में जिस तरह से रेप की समस्या बढ़ रही है और दिन प्रतिदिन जिस तरह से रेप अधिक होते जा रहे है उसका जिम्मेदार महिलाओं और लड़कियों के पहनावे है I

बॉम्बे हाईकोर्ट के भीतर जैसे ही चंद्रकांत पालव नामक याचिकर्ता ने यह बयान दिया कोर्ट में मौजूद उसके साथ के अन्य वकील भड़क और विरोध शुरू कर दिया I बाकी वकीलों ने चंद्रकात से पूछा कि जो छोटी-छोटी मासूम बच्चियों के साथ रेप हो जाता है उसका जिम्मेदार कौन होता है I

वास्तव में यह मामला कुछ इस प्रकार से था कि जस्टिस नरेश पाटिल और जस्टिस एसबी शुकरे ने महिलाओं की सुरक्षा के ऊपर दायर एक याचिका में कहा था कि वह लोगों के बयान, आम आदमी की राय सुनना चाहते है I

लेकिन इस पहले मामले की सुनवाई आगे बढ़ पाती कि तभी पालव के इस बयान पर कोर्ट रूम में विरोध और बवाल शुरू हो गया जिसके बाद दोनों ही न्यायाधीशों ने पालव से अपने विचारों को रोकने का आदेश देते हुए कहा कि अब इस मामले की सुनवाई अगले सप्ताह तक के लिए स्थगित की जाती है I

चंद्रकांत पालव ने अपने बयान में कहा था कि आजकल महिलायें इतने अधिक चुस्त कपडे पहनते है आदि उन्ही के कारण रेप की घटनाएं आजकल देश में सबसे ज्यादा बढ़ रही है I सरकारी वकील काकडे और शास्त्री ने कोर्ट से कहा है कि धर्माधिकारी समिति का गठन महिलाओं की सुरक्षा को लेकर हुआ है I उन्होंने अपनी रिपोर्ट के माध्यम से महिलाओं के विरूद्ध बढ़ रहे लगातार अपराधों को समाप्त करने के लिए पुरुषों की मानसिकता में परिवर्तन की बात कही है I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

20 − fourteen =