जैसे को तैसा मिला…- नेताओं के बाद अब जनता ने भी सीख लिया मौके पर धोखा देना

0
292

asivan bridge

चकलवंशी/उन्नाव(ब्यूरो)- नेताओं की वादा खिलाफी से नाराज होकर ग्रामीणो ने मतदान बहिष्कार करने के लिए टूटे हुए पुल पर बैनर लगा दिया है| जिसकी वजह से शासन सहित समूचे सरकारी महकमे में हडकंप मच गया है| इस खबर के फैलते ही मौके पर अधिकारियों का ताँता लगा हुआ है, सिचाई विभाग के अधिकारियों सहित नायाब तहसीलदार ने मौके पर पहुच कर नाराज गामीणो को समझाने का प्रयास किया लेकिन गामीण अपनी जिद पर अड़े हुए हैं कि जब तक टूटे हुए पुल का निर्माण नहीं किया जायेगा मतदान नहीं करेगे।

क्या है पूरा मामला-
सफीपुर बिधान सभा क्षेत्र के अंतर्गत गाम सभा बनौनी के मजरा रामपुर कलां गांव जो कि शारदा नहर आसीवन ब्रांच के सटा हुआ बसा है। वर्ष 2007 में नहर पर बना हुआ पुल आधा टूट कर गिर गया जिससे लोगों के सामने आने जाने के लिए काफी दिक्कतें होने लगी तब गामीणो ने बिजली के पोल रख कर किसी तरह निकलने के लिए रख लिया जिससे अब तक कई हादसे हो चुके हैं पूर्व प्रधान अनिल कुमार ने कई बार सिचाई विभाग के अधिकारियों से लेकर नेताओं तक अपनी समस्या बताई लेकिन झूठे अस्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला|

2012 का विधान सभा चुनाव हो या फिर 2016 का जिला पंचायत सदस्य का चुनाव नेता यहां वोट मांगने आये तो गामीणो ने अपनी समस्या बताई जिस पर उन्हे भरोसा दिया गया कि हम बनवा देगे लेकिन चुनाव जीतने के बाद नेता दोबारा गांव झाकने तक नहीं गये अब 2017 का चुनाव आया तो गामीणो ने मतदान बहिष्कार का बैनर लगा दिया | जिस पर सिचाई विभाग के अधिषाशी अभियंता राजेश चन्द्र, एस डी ओ बलकेशवर मिश्रा, जे ई ज्ञानेंद्र चौरसिया नायब तहसीलदार हसनगंज मीनाक्षी द्विवेदी व खण्ड बिकास अधिकारी मियांगज सुशील कुमार सिंह मौके पर पहुंचे और गामीणो से कहा कि आस्थाई पुल बना देगे और चुनाव बाद नया पुल बनवा दिया जायेगा लेकिन इस बात पर गामीण तैयार नहीं हुए और कहाँ की जब तक पुल नहीं बनेगा हम लोग मतदान का बहिष्कार करेगे।
रिपोर्ट- अशोक दुबे
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY