ब्रिटेन ने भारत सरकार से कहा नहीं कर सकते है माल्या को डिपोर्ट, माल्या है ब्रिटिश नागरिक

0
275

दिल्ली- भारत की तकरीबन 17 बैंकों का करीब 9 हजार करोंड रूपये से भी ज्यादा का कर्जा लेकर भारत छोड़कर जा चुके पूर्व राज्यसभा सांसद और शराब कारोबारी विजय माल्या को ब्रिटेन सरकार ने डिपोर्ट करने से मना कर दिया है | ब्रिटेन सरकार ने कहा है कि माल्या वर्ष 1992 से ब्रिटेन के नागरिक है और उनका नाम यहाँ तक की ब्रिटेन की वोटिंग लिस्ट में भी है ऐसे में उन्हें डिपोर्ट करना ठीक नहीं होगा | भारत को इस मामले पर पुनः विचार करना चाहिए |

रद्द हो चुका है माल्या का पासपोर्ट –
बता दें कि विजय माल्या का पासपोर्ट भारतीय विदेश मंत्रालय ने 24 अप्रैल को ही रद्द कर दिया था | लेकिन सूत्रों की मानें तो माल्या के पास ब्रिटेन में रहने के लिए वैधानिक वीजा है | भारतीय उच्चायोग को दिए अपने एक नोट में ब्रिटेन की एजेंसियों ने इस संबंध में जानकारी दी है और कहा है कि वे माल्या को डिपोर्ट नहीं कर सकते है | उनके पास इंग्लैण्ड में रहने के लिए वर्ष 1992 से ही रेजिडेंस वीजा है |

अब केवल संधि के तहत ही हो सकता है प्रत्यार्पण-
सूत्रों के हवाले से खबर है कि भले ही माल्या को सीधे तौर पर ब्रिटेन सरकार ने डिपोर्ट करने से मना कर दिया है लेकिन भारत और इंग्लैण्ड के बीच हुई एक्स्ट्राडीशन ट्रीटी के तहत ब्रिटेन ने माल्या को भारत के हवाले करने का भरोषा दिलाया है | इसके अलावा भी ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने भरोषा दिलाया है कि वे भारत की स्थित को समझ सकते है और इतना ही नहीं वे जांच में पूरा सहयोग देंगे |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY