ब्रिटिश सांसदों ने कहा, गिलगिट-बाल्टिस्तान सहित समूचा कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा, पाकिस्तान ने जबरदस्ती कर रखा है कब्जा

0
8558


लंदन- ब्रिटेन की संसद किर्गिस्तान को अपना पांचवां प्रांत घोषित करने के पाकिस्तान सरकार के कदम निंदा की की है ब्रिटिश सांसदों ने इस संबंध में एक प्रस्ताव भी पास किया है जिसमें गिलगित बल्तिस्तान को जम्मू-कश्मीर का वैध एवं संवैधानिक हिस्सा करार दिया गया है ब्रिटिश सांसदों ने अपने प्रस्ताव में कहा है कि 1947 से पाकिस्तान ने कब्जा कर रखा है यदि वास्तविकता में गिलगित-बल्तिस्तान और उसके आसपास के क्षेत्रों की बात करें तो वह पूरे के पूरे भारत का अभिन्न अंग है।

आपको बता दें कि फिलहाल पाकिस्तान के चार प्रांत हैं जिनमें बलूचिस्तान खैबर-पख्तूनख्वा पंजाब और सिंह जबकि अब पाकिस्तान गिलगित बल्तिस्तान को अपना पांचवां प्रांत घोषित करने की फिराक में है पाकिस्तान के इसी कदम की निंदा करते हुए ब्रिटेन की कंजरवेटिव पार्टी के सांसद बाप ब्लॉक ब्लैक मैन की ओर से 23 मार्च को ब्रिटेन की संसद में एक प्रस्ताव पेश किया गया था जिसमें यह बताया गया था कि पाकिस्तान मैं 1947 से एक ऐसे भूभाग पर कब्जा कर रखा है जो कि उसका है ही नहीं।

गिलगित-बाल्टिस्तान सहित समूचे जम्मू और कश्मीर को बताया भारत का हिस्सा-
ब्रिटेन की संसद में पेश किए गए इस प्रस्ताव में बताया गया है कि गिलगिट-बाल्टिस्तान कानूनी और संवैधानिक रूप से भारत के जम्मू कश्मीर का हिस्सा है जिस पर 1947 में ब्रिटेन से मिली आजादी के बाद से ही पाकिस्तान ने गैर कानूनी तौर पर कब्जा कर रखा है इस प्रस्ताव में यह भी कहा गया है कि यहां के लोगों को अभिव्यक्ति की आजादी पाकिस्तान के द्वारा नहीं दी गई है और मूलभूत सुविधाओं तक से यहां के लोग वंचित हैं प्रस्ताव में लिखा गया है कि इस इलाके की जनसंख्या वितरण में किसी भी तरह का बदलाव करना इस विवादित क्षेत्र में तनाव भड़काने जैसा होगा।

खुलकर भारत के समर्थन में उतरा ब्रिटेन-
आपको बता दें कि ब्रिटिश सांसदों का इस तरह का प्रस्ताव संसद में पेश करना भारत के लिए एक बेहद सकारात्मक पहलू है। गौरतलब है कि 1947 में जब भारत और पाकिस्तान दोनों को ही ब्रिटेन से एक साथ आजादी मिली थी तब से ही भारत गिलगित-बाल्टिस्तान सहित समूचे जम्मू एंड कश्मीर को ऐतिहासिक और भूगोलीय आधारों के माध्यम से अपना बताया था इतना ही नहीं प्रिवी पर्स के नियमों के अनुसार तत्कालीन जम्मू कश्मीर के शासक ने जम्मू कश्मीर राज्य का विलय भी भारत में ही किया था लेकिन मोहम्मद अली जिन्नाह के निर्देशों पर पाकिस्तानी सेना ने जबरदस्ती गिलगिट-बाल्टिस्तान सहित जम्मू कश्मीर के कुछ क्षेत्र पर कब्जा कर लिया था जिसकी वजह से तब से ही यह एक विवादित मुद्दा बना हुआ है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY