गरीबों के आशियाने की राशि डकार गए दलाल

0
88


झारखण्ड(ब्यूरो)- सरकार जनता के लिए अनेक जनकल्याणकारी योजनाओं का निर्माण करती है लेकिन उन योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए प्रशासनिक पारदर्शिता नहीं रहने के कारण बिचौलियों के चक्रव्यूह में फंसकर रह जाती है और लाभुक को इसका पूर्ण लाभ नहीं मिल पाता है। ऐसा ही एक उदाहरण है जरमुंडी प्रखंड अंतर्गत झनकपुर पंचायत के सतपहड़ी हरिजन टोला में लाभुकों को मिले आवास योजना का जहां लाभुकों को आवास योजना की निर्धारित राशि नहीं मिलने के कारण उक्त योजना अधर में लटकी हुई है।

इस संबंध में लाभुक वासुदेव मिर्धा, राजकुमार मिर्धा, झगरु मिर्धा ने बताया कि वर्ष 2016 में हम तीनों के नाम से सत्तर हजार रुपये प्रति लाभुक वाला आवास आवंटित किया गया था| जिसमें ईंट की दीवाल पर खपरैल का छत बनना था लेकिन योजना की पुर्ण राशि नहीं मिलने के कारण आवास अधूरा रह गया है। लाभुक झगरु मिर्धा का कहना है कि उसे इस मदद में मात्र 30000 रूपये ही मिले जिसमें से गांव के ही एक दलाल ने बाकी रूपये दिलाने के नाम पर ₹10000 ले लिए लेकिन अब तक बाकी के पैसे नहीं मिले| जिसके चलते मेरा मकान अधूरा रह गया है और आज मेरी स्थिति यह हो गई है कि आवास नहीं बनने के कारण बच्चों सहित हम खुले आकाश के नीचे रहने को मजबूर हैं।

रिपोर्ट- धनंजय कुमार सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY