ईवीएम में गड़बड़ी के चलते बसपा नेताओं ने दिया धरना

0
67

देहरादून। प्रदेश में पहली बार हुआ है कि बसपा पार्टी को एक भी सीट नहीं मिल पाई। इस बार  बसपा पार्टी का विधानसभा चुनाव में वोट का प्रतिशत भी गिरा है। ऐसे में बसपा ने भी ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगया है।  बहुजन समाजवादी पार्टी ने विधानसभा चुनाव में ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए दून के परेड ग्राउंड में धरना प्रदर्शन किया। वहीं पार्टी नेताओं ने चुनाव आयोग से भविष्य में चुनाव ईवीएम से कराने के बजाय बैलेट पेपर से कराने की मांग की।

उल्लेखनीय है कि बसपा के राज्य स्तरीय धरने में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ ही प्रदेश के नेताओं ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। वहीं पार्टी नेताओं ने भाजपा पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि बीजेपी सत्ता की भूखी है और सत्ता पाने के लिए कुछ भी कर सकती है। विधानसभा चुनाव में बीजेपी ईवीएम में गड़बड़ी करने के बाद प्रचंड बहुमत से जीती है। जिसकी शिकायत बसपा चुनाव आयोग से कर चुकी है। बसपा के नेताओं ने कहा कि बीजेपी 2019 के लोकसभा में जीत के सपने संजोए हुए है इसलिए आरक्षण से कोई छेड़-छाड़ नहीं की जा रही है। बसपा पार्टी के संस्थापक कांशी राम ने कहा था कि इन वर्गों के लोगों को यह कहते थे कि इन्हें केंद्र व राज्यों की सत्ता से दूर रखने के लिए खासकर चुनावों में जातिवादी लोग जातिवादी पार्टियां चाहती है कि हम पैरो पर खड़ा न हो सके ताकि इनको दुबारा से गुलाम व लाचार बनाया जा सके।

पार्टी नेताओं ने कहा कि ईवीएम में छेड़छाड़ का सही जवाब चुनाव आयोग भी नहीं दे पा रहा है| पार्टी इस मामले को सर्वोच्च उच्च न्यायालय में ले गई है। साथ ही बसपा पार्टी भविष्य में चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग करती है। बसपा द्वारा आयोजित धरने के मुख्य अतिथि प्रदेश प्रभारी एवं एमएलसी उत्तर प्रदेश प्रदीप कुमार जाटव, प्रभारी भ्रगुराशन राव, प्रदेश अध्यक्ष चौधरी चरण सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी सुभाष, प्रदेश महासचिव चौधरी शीशपाल सिंह, प्रदेश महासचिव सूरजमल, प्रदेश महासचिव रतिराम, प्रदेश सचिव रमेश कुमार, श्याम सिंह, ज़िलाध्यक्ष सूरजभान सिंह, विजेंद्र कुमार कश्यप, सुनील कुमार, रामकुमार चौधरी, दिनेश कुमार, पिंटू, ऋषि चौहान, पार्षद उषा देवी, हरिसिंह आदि मौजूद थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY