10,000 करोड़ की संपत्ति, 111 कंपनियों का मालिक है ये नेता, सुप्रीम कोर्ट ने कसा शिकंजा…

0
14458

supreeme court of india

उत्तर प्रदेश की प्रमुख पार्टियों में से एक बसपा के नेता एमएलसी मोहम्मद इकबाल एक बड़ी वित्तीय हेरा-फेरी में लिप्त पाए गए हैं, प्रवर्तन निदेशालय और आयकर विभाग ने सुप्रीम कोर्ट को संपी अपनी रिपोर्ट में बताया कि एमएलसी मोहम्मद इकबाल अपनी 111 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन रद्द करा रहे हैं, विभागों ने यह भी बताया कि इन कंपनियों के अलावां मोहम्मद इकबाल के पास 10000 करोड़ की संपत्ति भी है |

विभागों ने बताया की बसपा एमएलसी द्वारा इन कंपनियों को रद्द करने के पीछे का मकसद विभागीय जांच से बचना है, इसलिए प्रवर्तन निदेशालय ने रजिस्ट्रार ऑफ़ कम्पनीज से अनुरोध किया है कि कंपनियों के रद्द होने के बाद भी कंपनियों के रिकार्ड्स नष्ट ना किये जाए |

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में विस्तृत जांच के लिए प्रवर्तन निदेशालय आयकर विभाग और सीरियस फ्रॉड इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट को 3 महीने का समय दिया है, कोर्ट ने सीबीआई से भी इस मामले में रिपोर्ट मांगी है |

बसपा एमएलसी मोहम्मद इक़बाल पर अवैध खनन करने, मोहम्मद इकबाल पर अवैध खनन करने, 111 कागज़ी कंपनियां चलाने और 10 हज़ार करोड़ रूपये की संपत्ति बनाने का आरोप है, कॉर्पोरेट मंत्रालय के सीरियस फ्रॉड इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (SFIO) सुप्रीम कोर्ट को बता चुका है कि अब तक हुई जांच में लगभग 40 कंपनियां फ़र्ज़ी पाई गयी हैं |

इस मामले में बसपा एमएलसी का कहना है कि उनपर लगाये जा रहे सभी आरोप झूठे हैं, ये सभी 111 कंपनियां उनके रिश्तेदार चलते हैं और वो खुद किसी भी कंपनी में निदेशक नहीं हैं |

सुप्रीम कोर्ट ने याचिककर्ता रणवीर सिंह के खिलाफ चल रहे आपराधिक मामलों की भी जानकारी मांगी थी. यूपी सरकार ने उनके खिलाफ 7 मामलों की जानकारी दी, कहा कि अवैध खनन के एक मामले में सहारनपुर के डीएम ने उनसे साढ़े 4 करोड़ की वसूली का आदेश दिया है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY