बवाले-ए-जान बनी बबूल की झाड़ियां,

0
63

रुरुगंज/औरैया (ब्यूरो) रुरुकलां-हरचन्दपुर मार्ग के किनारे विलायती बबूल की घनी झाड़ियां उगी हैं जो आने-जाने वालों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई हैं। वाहन से चलने वालों को परेशानी होती ही है, पैदल राहगीरों को भी दिक्कत का सामना करना पड़ता है और दुघर्टना का अंदेशा भी रहता है। समस्या गंभीर होने के बावजूद इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

रुरुकलां से हरचंदपुर और दिवियपुर व औरैया मुख्यालय को जाने वाली सड़क पर कई वर्षों से झाड़ियों की कटाई नहीं कराई गई है, जिसके कारण विलायती बबूल का जंगल सड़क किनारे खड़ा है। पेड़ों की बेल और डालें सड़क तक आ गई हैं जिससे आने-जाने वालों को परेशानी होती है। मोड़ पर कुछ दिखाई ही नहीं देता है जिस कारण कटीली झाड़ियों से लोग जख्मी भी हो जाते हैं। वाहन से चलने वाले दुर्घटना को लेकर सशंकित रहते हैं और पैदल राहगीरों को भी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। घनी झाड़ियां लोगों के लिए मुसीबत बन चुकी हैं। यदि इन झाड़ियों को साफ नहीं कराया गया तो कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। लोकसेवी प्रदीप अग्निहोत्री, गौरव गुप्ता,कुलदीप यादव,सोनू राजपूत,अवधेश कुमार,घनश्याम यादव, आदि का कहना है कि समस्या गंभीर होने के बाद भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है। संबंधित विभाग या फिर वन विभाग सड़क के दोनों ओर की झाड़ियों को शीघ्रातिशीघ्र हटवाएं अन्यथा इन झाड़ियों से कभी भी गंभीर सड़क दुर्घटना घट सकती है।

रिपोर्ट – आशीष श्रीवास्तव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here