चीन से समाप्त हो व्यापारिक सम्बन्ध

0
72

रायबरेली(ब्यूरो)- स्वदेशी जागरण मंच के जिला संयोजक ओंकार नाथ मिश्रा एवं जिला संयोजक (महिला) साधना शर्मा के नेतृत्व में जनपद के नागरिको की ओर से राष्ट्रीय स्वदेशीय सुरक्षा अभियान आन्दोलन को गति देने के लिये प्रधानमंत्री को सम्बोधित एक ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट को सौपा गया।

प्रधानमंत्री को प्रेषित छह सूत्री ज्ञापन में लिखा गया है कि हमारा देश चीन से मशीनरी, उपकरण, इलेक्ट्रानिक्स, इलेक्ट्रीकल और अन्य उपभोक्ता वस्तुओं, टायरों, परियोजना वस्तुओं आदि के भारी आयात व उसके फलस्वरूप होने वाले व्यापार घाटे के कारण भयंकर संकट से गुजर रहा है। हमारे छोटे बड़े उद्योग धन्धे ही बन्द नही हुये बल्कि बड़ी संख्या में हमारा युवा भी उसके कारण बेरोजगार होता जा रहा है। वर्ष 2015-16 में चीन से हमारा व्यापार घाटा 52.7 अरब डालर तक पहुच चुका था, जो हमारे कुल व्यापार घाटे का 41 प्रतिशत था। चीन के कारण हमारी अर्थव्यवस्था को होने वाले नुकसानो और उसके आयात के कारण होने वाले उद्योग बन्दी व बेरोजगारी के मद्देनजर भारत की जनता द्वारा पिछले वर्ष चीनी सामानो के बहिष्कार के चलते दीपावली के अवसर पर चीनी माल की बिक्री पर 30 से 50 प्रतिशत का असर हुआ था जिसे अच्छे संकेत के रूप मे देश में देखा गया। चीन भारत से लगातार शत्रुता का भाव रखता आया है पाकिस्तान के अनाधिकृत कब्जे वाले भारत के भू-भाग में सैनिक अड्डे बनाने, भारतीय सीमा का अतिक्रमण, अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने में अड़न्गा लगाने व न्यूक्लियर सम्पायर ग्रुप में सदस्यता आदि मामलो में भारत का हमेश विरोध करता रहा है। इस अवसर पर संन्तोष सोनी, वीर भान सिंह, शीतल मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- राजेश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY