बिना लाइसेंस अढतिये कर रहे व्यवसाय, जिम्मेदार मौन

0
32

रायबरेली (ब्यूरो)- कृषि उत्पादन मण्ड़ी समिति बछरांवा के कर्मचारियों की सह पर स्थानीय कस्बे के अन्दर फर्जी आढ़तों की भरमार हो गयी है। ज्ञात हो कि प्रति सप्ताह मंगलवार व शुक्रवार को लगनें वाली बाजार में सब्जी मण्ड़ी के अन्दर लगभग आधा दर्जन आढ़ते चल रही है। यह आढ़ते प्रति बाजार लाखों रूपये का व्यापार करती है।

कस्बे की यह बाजार आलू, प्याज, मिर्च तथा टमाटर की थोक मण्ड़ी बना हुआ है। राजामऊ, सेहगों, दोस्तपुर, रानीखेड़ा, तिलेण्ड़ा, गूढ़ा, ओसाह, कुन्दनगंज, सहित लगभग 2 दर्जन बाजारों के फुटकर व्यापारी इन अढ़तियों से खरीदकर सब्जियों को पूरे क्षेत्र में बेचतें है। परन्तु पता लगाने पर ज्ञात हुआ कि इनमें किसी के पास भी आढ़त का लाईसेंस नहीं है।

प्रशासन की उदासीनता एवं विभागीय लूट के कारण कर्मचारी मनमाने तरीके से अवैध वसूली कर शासन को चूना लगा रहे हैं। यह जरूर है कि सुबह होते ही मण्ड़ी समिति का एक कर्मचारी आकर बैठ जाता है और शाम तक वह वसूली में लगा रहता है। यही नहीं धनिया व सिंघाड़ें का थोक व्यापार भी इस बाजार की महत्वपूर्ण ब्रिकी है। प्रतिवर्ष करोड़ों में इनकी खरीद फरोख्त की जाती है। मण्ड़ी शुल्क के नाम पर सरकार खजानें में जमा करने की मांग क्षेत्रीय नागरिकों ने जिम्मेदार अधिकारियों से की है। भाजपा नेता ने मण्डी समिति के सुन्दरीकरण कराये जाने की मांग प्रदेश के मुख्यमंत्री से की है।

रिपोर्ट- राजेश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY