बेअसर दिख रहा अवैध स्कूलों के खिलाफ चलाया जा रहा शासन का अभियान

0
51

बल्दीराय/सुलतानपुर (ब्यूरो) शासन के आदेश पर अवैध विद्यालयों के खिलाफ चलाया जा रहा अभियान जनपद के विकास खण्ड धनपतगंज व कूरेभार में बेअसर दिख रहा है। निरीक्षण पश्चात, चेतावनी के बाद भी तमाम अवैधविद्यालय संचालक 11 अगस्त को भी बेखौफ स्कूल खोले। विभागीय अधिकारियों का चाबुकउनके लिए कोई मायने नही रखता है विद्यालय माफियाओं कीबेखौफ अवैध विद्यालय का संचालन कुछ और कहता दिख रहा है । विभागीय साहबों द्वारा निरीक्षण कहीं महज औपचारिकता तो नहीं ? जो इनके खिलाफ कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति कर दी जा रही है।कहावत भी है कि हाथी के कहने दांत और दिखाने के और होते हैं |

एक तरफ जहां अवैध विद्यालयों को बंद कराने के लिए उत्तर प्रदेश शासन फरमान जारी कर उनके खिलाफ युद्धस्तर पर कार्यवाही शुरू कर दी है तोवहीं दूसरी तरफ इन अधिकारियों के आदेश का शिक्षा क्षेत्र धनपतगंज व कूरेभार व बल्दीराय के कई गांवों व बाजारों में कोई असर नहीं है।क्षेत्र में कुकुरमुत्तों की तरह पनपे अवैध विद्यालय संचालकों में उच्च अधिकारियों के आदेश का तनिक भी असर नहीं दिख रहा। इन विद्यालयों के संचालकों द्वारा अधिकारियों के आदेश को दरकिनार करते हुए पठन-पाठन का कार्य किया जा रहा है।

बताते चलें कि बृहस्पतिवर शिक्षा विभाग की संयुक्त टीम ने बिना मान्यता चल रहै आठ विद्यालयों के खिलाफ कार्यवाही करते हुये बन्द करवाया था साथ में विद्यालय प्रबन्धको को निर्देश दिया था कि यदि पुनः स्कूल का संचालन करते हुये पकड़े गये तो मुकदमा पंजीकृत कर कार्यवाही की जाएगी। जांच में मिले अमान्य विद्यालय शांति पब्लिक विधालय सराय गोकुल, माँ जालपा कान्वेन्ट मझंवारा ,कमला विघा मन्दिर बटपरवा, आर. डी. एल. पुरेपहलवान मॉ केवल पति शिक्षा संस्थान महमन्दी पुर, एम. डी. स्कूल पटना, स्वामी विवेकानन्द कोरो और राम यश मिमोरियल इंटर कालेज कूरेभार को बन्द कराया गया था।  इस संयुक्त टीम मे खण्ड खंड शिक्षा अधिकारी दुबेपुर एसबी सिंह, खण्ड खंड शिक्षा अधिकारी धनपतगंज/कूरेभार सूशील त्रिपाठी, पंकज यादव खण्ड शिक्षाधिकारी जयसिंहपुर,  एस. बी. सिंह खण्ड शिक्षाधिकारी कुडवार, सतीश खण्डशिक्षाधिकारी अखण्ड नगर के साथ ओम प्रकाश बृजेश सिंह, अरबिन्द सिह, राजेश सिंह, चन्द्रबली, राहुल तिवारी आदि लोग टीम मे रहे। परन्तु बेखौफ शिक्षा माफिया शुक्रवार को भी अवैध स्कूल के संचालित करने से बाज नही आ रहे है। बानगी के तौर पर आशा मांटेसरी शेरपुर धनपतगंज की मान्यता एक से पांच तक है लेकिन 10 वी तक की कक्षाओं का संचालन धड़ल्ले से हो रहा है। इसी तरह दर्जनों विद्यालय ऐसे है जिनकी एक से 5 तक अथवा 6 से 8 तक है और कक्षाओं का संचालन हाई स्कूल या इंटर तक हो रहा है।

बल्दीराय, धनपतगंज व कूरेभार क्षेत्र में गांव की गलियों में फर्जी स्कूल चलाने का सिलसिला अनवरत जारी है। बिना मान्यता के स्कूल रूपी दुकान चलाने वाले अंग्रेजी माध्यम से गुणवत्ता युक्त शिक्षा देने का दावा करते हैं लेकिन मानक पूरा नहीं होता। जिसका खामियाजा नौनिहालों को भुगतना पड़ रहा है। क्षेत्र के कई संचालक ताम-झाम के साथ इंटरमीडिएट तक कक्षाओं का संचालन कर रहे हैं जबकि इनके पास जूनियर हाईस्कूल तक की मान्यता नहीं है। सत्तापक्ष के नेताओं का रिश्तेदार बताकर विभाग के अधिकारियों पर धौंस भी जमाते हैं।

रिपोर्ट – धर्मेन्द्र सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY