मिल सकते हैं छत्तीसगढ़ को कई नए आईपीएस, कैडर रिव्यू फाइनल स्टेज में

0
47

रायपुर (छत्तीसगढ़ राज्य ब्यूरो)- राज्य गृह विभाग का दांव अगर सटीक बैठा, तो प्रदेश में आईपीएस की संख्या बढ़ जायेगी। अभी मौजूदा वक्त में प्रदेश में 103 आईपीएस हैं, लेकिन राज्य गृह विभाग इस आंकड़े में बढ़ोत्तरी चाहता है। हालांकि कैडर रिव्यू के प्रयास तो साल 2014 से हो रहे हैं, लेकिन कामयाबी इस साल मिल सकती है। गृह विभाग के प्रमुख सचिव सुब्रमणियम पिछले दो दिनों से दिल्ली में है| जहां उनकी लगातार केंद्रीय गृह मंत्रालय के अफसरों के साथ बैठक चल रही है। पिछले दिनें सुब्रमणियम की MHM के अफसरों के साथ भी बैठक हुई। हालांकि पहले भी 50 फीसदी बढ़ोत्तरी मांगी गयी थी, लेकिन उसे नहीं माना गया था। राज्य गृह विभाग की दलील है कि पहले की तुलना में जहां जिलों की संख्या बढ़ गयी है तो वहीं अलग-अलग बटालियन की वजह से भी आईपीएस की जरूरत हैं।

तो बढ़ जायेंगे आईपीएस-
छत्तीसगढ़ में आईपीएस की संख्या बेहद कम है। लिहाजा अधिकांश जगहों पर प्रमोटी के जिम्मे बड़ी जिम्मेदारी देनी सरकार की मजबूरी बन गयी है। हालांकि अभी तक सर्वाधिक आईपीएस की संख्या 20 तक ही बढ़ी है। राज्य गठन के समय छत्तीसगढ़ में कैडर 57 का था.. जो बाद में 14 बढ़ाया गया और आईपीएस की संख्या 71 हुई। बाद में रिव्यू में 12 आईपीएस और मिले और संख्या 83 तक पहुंची। आखिरी रिव्यू में 20 आईपीएस छत्तीसगढ़ को और मिले जो अभी के मौजूदा संख्या 103 बनी हुई है।

रिपोर्ट- हरदीप छाबड़ा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY