एक-दूसरे को दम ख़म दिखाने में जुटे प्रत्याशी

0
377

purwa
पुरवा-उन्नाव : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की जनसभा होने के बाद दूसरे दलों के प्रत्याशी व कार्यकर्ताओ मे एक दूसरे को दम दिखाने की होड़ शुरू हो गयी 5 जनवरी को सपा प्रत्याशी के पक्ष मे सी.एम. ने चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए पार्टी प्रत्याशी के पक्ष मे वोट मांगे, तो दूसरे दिन बसपा प्रत्याशी ने मोटर साईकिल से रोड शो कर लोगो से अपनी जीत पक्की करने के लिये आर्शीवाद मांगा, वहीं भाजपा प्रत्याशी का प्रचार धीमी गति पर नजर आ रहा है, परन्तु 6 जनवरी की विधानसभा 167 पुरवा के थाना क्षेत्र मौरावां के मोतेश्वर मन्दिर के पास जैसे ही बसपा प्रत्याशी के समर्थको का दो पहिया वाहन जुलूस पहुंचा तभी मौरावां की ओर से आ रही भाजपा प्रत्याशी की गाड़ी जब निकल रही थी जहां बसपा समर्थक नारेबाजी करते हुये आगे बढ़ रहे थे, जिस पर भाजपा प्रत्याशी की मौजूदगी में उनके समर्थको ने भी नारेबाजी की फिर क्या दोनो ही ओर से झड़प शुरू हो गयी, पर वहां मौजूद सम्भ्रान्त लोगो और थानाध्यक्ष मौरावां ने सूझ-ब्ूझ का परिचय देते हुये मामले को शान्त कराया परन्तु भाजपा प्रत्याशी ने कोरी लोकप्रियता हासिल करने के लिये मामले को तूल देने का भी प्रयास किया और थाना मौरावां में बसपा प्रत्याशी सहित उनके समर्थको के विरूद्ध तहरीर देकर मुकदमा भी कायम कराया गया जहां घटना झूठी पायी जाने पर मुकदमा स्पंच कर दिया गया ।

प्राप्त विवरण के अनुसार जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आते जा रहे है, वैसे-वैसे प्रत्याशी तथा पार्टी समर्थको में जोश बढ़ता दिखाई दे रहा है बताते चले कि 1996 से लगातार 4 बार से विधायक उदयराज यादव का कब्जा चला आ रहा है, वही इस बार पांचवी बार चुनावी वैतर्रणी पार करने के लिये उदयराज यादव रातो दिन एक किये हुये है पर इस बार उन्हें विरोध का सामना अधिक करना पड़ रहा है, वही बसपा प्रत्याशी अनिल सिंह जो हिलौली विकास खण्ड के कोदइया खेड़ा गांव निवासी है साथ ही माही संस्था के अध्यक्ष भी है । अनिल सिंह पिछले 5 वर्षों से लगातार विधानसभा पुरवा 167 के प्रत्येक गांव में अपनी संस्था के माध्यम से क्षेत्र के दबे कुछ ले बेसहारों का सहारा बनकर उभरे साथ ही उन्होंने धार्मिक कार्यक्रमों में चाहे व हिन्दू कार्यक्रम रहा हो या मुस्लिम कार्यक्रम हो सबमें अपनी हाजरी लगाते रहे है और प्रत्येक गांव के लोगो में अपनी एक अच्छी पहचान बनाई वही लगभग 7-8 माह पहले ही बहुजन समाजपार्टी ने अनिल सिंह को बसपा प्रत्याशी व प्रभारी के रूप में घोषणा कर खी थी जिसका फायदा भी उन्हें मिल रहा है रही बात भाजपा प्रत्याशी उत्तम चन्द्र लोधी की जिन्हें भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव के अन्तिम समय में पार्टी प्रत्याशी के रूप में घोषणा की वही भाजपा प्रत्याशी उत्तम चन्द्र राकेश लोधी ने अपने सजातीय मतदाताओं को लामबन्द करने में पूरी ताकत झोक दी।

अब देखना यह है कि क्या करता है 167 विधान क्षेत्र पुरवा का मतदाता क्या बदलेगा पुरवा विधानसभा का इतिहास अगर देखा जाये तो कोई भी प्रत्याशी प्रचार में कोई कमी नही छोड़ना चाहता 5 जनवरी को अखिलेश ने जनसभा की तो 6 जनवरी को बसपा प्रत्याशी अनिल सिंह ने मोटर साइकिल रैली निकालकर अपनी ताकत दिखाई वही युवा जोश और समर्थन को देख मतदाता भी अपना विचार बदलने पर मजबूर दिखाई दे रहे हैं, वहीं गुड़ा भाग लगाने वाले भी यह कयास लगा रहे है कि क्या इस बार बदल जायगा जनता का फैसला या फिर दोहराई जायगी वहीं कहानी या क्षेत्र में हनक बनायगा कोई बाहरी यह सभी बातें अभी एक रहस्य है | जिसका फैसला प्रजातन्त्र के हाथ में है और 19 फरवरी को ई.वी.एम. मशीन के माध्यम से 11 मार्च को इस रहस्य का उद्घाटन होगा वही तमाम गांवो का सर्वे करने से यह भी पता चला कि इसके पूर्व भी 1996 में और 2007 तथा 2012 के चुनाव में बाहरी लोग आये और चुनाव हारने के बाद भूमिगत हो गये किसी ने अपना निवास पुरवा बनाया किसी ने पारा किसी ने उन्नाव यह दहशत भी मतदाताओं को सता रही है, वही थानाध्यक्ष मौरावां दिनेश कुमार मिश्रा से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उत्तम चन्द्र की तरफ से बसपा प्रत्याशी अनिल सिंह के विरूद्ध तहरीर आयी थी मुकदमा लिखा गया पर घटना झूठी पायी गयी मुकदमा स्पंच कर दिया गया।

रिपोर्ट – मोहम्मद अहमद

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here