भदोही में मानव रहित क्रासिंग पर विभूति एक्सप्रेस से टकराई कार, चालक संग पाँच की मौत 

0
731


भदोही ब्यूरो : 22 अप्रैल भदोही ज़िले में वाराणसी – इलाहबाद रेल प्रखंड पर शनिवार की शाम पाँच बजे मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर विभूति एक्सप्रेस की ज़द में आई स्विफ्ट डिजायर कार के परखचे उड़ गए।  हादसे में कार में सवार चालक समेत सभी पाँच लोगों की मौत हो गई । कार में सवार लोग बेटी की शादी के पूर्व तिलक की रस्म अदायगी करने मिर्जापुर ज़िले के पखवैया जा रहे थे।सभी मरनेवाले इसी ज़िले के हैं । घटना ज़िले के औराई के माधोसिंह – अहिमनपुर के मध्य स्थित गोरीडीह मानव रहित रेल क्रासिंग पर हुई । घटना की ख़बर लगते काफी संख्या में ग्रामीण और पुलिस मौक़े पर पहुँच गई । इस दौरान भाजपा विधायक दीनानाथ भास्कर भी मौक़े पर पहुँच बचाव एवं राहत कार्य में जुट गए ।


मिर्जापुर ज़िले के कछवा के आही बँधवा के जमुवा गाँव निवासी बालकृष्ण तिवारी की बेटी की शादी पड़ी है । परिजन शनिवार को बेटी के  तिलक की रस्म के लिए मिर्जापुर ज़िले के चील्ह थाने के पखवैया गाँव लड़के वाले के यहाँ जा रहे थे । लोग पाँच गाड़ी में सवार थे । ज़िले के माधवसिंह – अहिमनपुर स्टेशनों के मध्य स्थित गोरीडीह मानव रहित समपार से गुजर रहे थे । दो गाडियां निकल गई थी । पीछे तीन गाडियां और थी । हादसे की शिकार डिजायर कार ( up – 65/बीड़ी – 1645) भी निकल रहीं थी , उसी समय शाम करीब 5: 10 पर नई दिल्ली से कोलकाता की तरफ जा रही विभूति एक्सप्रेस( 1234 डाउन) की ज़द में कार आ गई और कार के परखचे उड़ गए । इस  हादसे में कार में सवार चालक समेत सभी पाँच लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में सतीश त्रिपाठी (58) विवेक त्रिपाठी (38) अजीत त्रिपाठी (32) दीप कुमार मिश्र (35) और रामसंजीवन मिश्र (70) शामिल हैं । मरने वालों में तीन एक ही परिवार यानी त्रिपाठी परिवार से हैं । जबकि दो सम्बन्धी बताए गए हैं । घटना की ख़बर लगते ही ज़िला एवं रेल प्रशासन से जुड़े आला अफसर पहुँच गए । इस दौरान लोग बचाव और राहत कार्य में जुट गए । ट्रेन काफी वक्त तक खड़ी रहीं । बाद में पुलिस ने कार से बुरी तरह फंसे शवों को किसी तरह निकाल पोस्टमार्टम के लिए भेजा । बालकृष्ण तिवारी मूलतः मिर्जापुर ज़िले के हैं , लेकिन उनका पूरा परिवार वाराणसी के दुर्गाकुंड में रहता हैं । रेल प्रशासन की जह से इसी रूट पर  मानव रहित क्रासिंग पर यह दूसरा बड़ा रेल हादसा है । 25 जुलाई 2016 को हुए रेल हादसे में सवारी गाड़ी और स्कूली वैन की भिड़ंत में नौ स्कूली बच्चों की मौत हुई थी।

रिपोर्ट–पी०एन०शुक्ल

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY