ऑंखें अनमोल हैं, इनका ख्याल रखें….

0
357

Eye

 

आँखें हमारे शरीर का ऐसा हिस्सा हैं जिनके बिना जीवन की कल्पना करने से भी डर लगता है, एक तरह से देखा जाये तो आँखें किसी भी अनुभूति का प्रथम माध्यम होती हैं किन्तु आज – कल के प्रदूषण युक्त वातावरण में हमारी आंखे कई प्रकार के रोगों से ग्रस्त हो जाती हैं, अपने दैनिक जीवन में कुछ आदतों को अपनाकर  हम अपनी आँखों को इन रोगों से बचा सकते हैं |

आँखों के ख़राब होने के मुख्य कारण :-

बहुत पास से टीवी देखना, चमकीली वस्तुओं को लगातार न देखना, आंखों को बार−बार मलना |

अधिक तेज मसालेदार भोजन करना, अधिक गुस्सा करना, शराब पीना, मल−मूत्र आने पर उसे रोककर रखना |

सिर में तेल न डालना, लेटकर पढ़ना, घंटों लगातार कम्प्यूटर के आगे बैठे रहना |

बिना चश्मा लगाए मोटरसाइकिल या स्कूटर चलाना आदि कारणों से आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है ।

आँखों को सुरक्षित रखने के आसान उपाय :-

मल−मूत्र, छींक आदि वेगों को कभी न रोकें |

इसी प्रकार यदि आंख में कुछ गिर जाए तो उन्हें बार−बार न मलें बल्कि ऐसा होने पर आंखों को तुरंत ठंडे पानी से धोएं |

घंटों तक लगातार काम करते−करते आंखें थकने लगें या उनमें जलन होने लगे तो घुटने तक पांव और आंखों को तुरंत ठंडे पानी से धोएं |

मस्तक पर चंदन लगाना आंखों के लिए फायदेमंद होता है |

मुंह में ठंडा पानी भरकर आंखों पर ठंडे पानी के छीटें मारना भी लाभकारी होता है |

सुबह−सवेरे हरी घास पर नंगे पैर टहलना आंखों को विशेष रूप से लाभ पहुंचाता है |

प्राकृतिक हरियाली निहारने से आंखों को ठंडक भी मिलती है |

नारियल सरसों या टिल का तेल नियमित रूप से बाल, नाक और नाभि में लगाने से आँखों को लाभ होता है |

मक्खन में मिश्री मिलाकर खाने से आंखों को शक्ति मिलती है |

रात को सोते समय पैरों के तलवों में तेल लगाना आंखों के लिए अच्छा होता है |

भोजन से पहले मल−मूत्र त्याग करना तथा सोते समय हाथ−पैर धोकर सोने से भी आंखों को रोग मुक्त रहती हैं  |

हरड, बहेड़ा और आंवला मिलाकर कूटकर यह चूर्ण बनाकर दो चम्मच चूर्ण रात को एक गिलास पानी में भिगोकर सवेरे उस पानी से आंखें धोने से आंखों की छोटी−मोटी परेशानी स्वयं ही दूर हो जाती है |

सुबह उठते ही पानी पीना, हरी सब्जियों, सलाद आदि का नियमित सेवन आँखों को स्वस्थ रखता है |

आँखों की रौशनी बढ़ाने के लिए विटामिन A युक्त चीजों का अधिक सेवन करें |

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY