सावधान- इस उम्र में पोर्न फ़िल्मे देखने वाले सेक्स को एंजॉय नहीं कर पाते – शोध

0
383

जिस उम्र में लोग पहली बार पोर्न फ़िल्में देखते है उसका असर उनकी वास्तविक ज़िंदगी और उनके व्यवहार पर भी पड़ता है इस बात का ख़ुलासा नेब्रास्का विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं कोई टीम ने किया है। BBC.COM पर छपी ख़बर के मुताबिक़ नेब्रास्का विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की टीम ने ख़ुलासा किया है कि जो लोग जितनी कम उम्र में पहली बार पोर्न फ़िल्म देखते है या फिर देखना प्रारम्भ कर देते है वे अपनी रियल लाइफ़ में महिलाओं के ऊपर उतना ही अधिक अधिकार ज़माने की कोशिश करते है।

इसके इतर शोधकर्ताओं की टीम ने यह भी दावा किया है कि जो लोग जितनी अधिक उम्र में पोर्न फ़िल्मे देखते है या फिर देखना प्रारम्भ करते है उनकी सेक्शूअल लाइफ़ उतनी ही अधिक बेहतर होती है। हालाँकि इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि ऐसे लोगों में पार्टनर बदल-बदल कर सेक्स करने की इच्छा अधिक होती है।

330 लोगों पर किया गया शोध-
बता दें कि इस शोध में तक़रीबन 20 साल की उम्र के 330 अंडरग्रैजुएट स्टूडेंट्स को शामिल किया गया था। सर्वे में इस बात का ख़ुलासा भी किया गया है कि औसतन ज़्यादातर ने 13 साल की उम्र में पहली बार पोर्न फ़िल्में देखना प्रारम्भ किया था। इस शोध में यह बताया गया है कि इसमें सबसे कम उम्र के जिस युवा ने पोर्न देखा था तब उसकी उम्र महज़ 5 वर्ष की थी और जिसने सबसे अधिक उम्र में पहली बार पोर्न देखा था तब उसकी उम्र 26 वर्ष की थी।

सर्वे के दौरान पुरुषों से बताया जा रहा है कि 46 सवाल पूछे गए थे जिससे यह निष्कर्ष निकाला गया कि वह महिलाओं पर अधिकार ज़माना चाहते है या फिर ज़्यादा सेक्स करना पसंद करते है इसके अलावा वह प्ले बॉय जैसी ज़िंदगी जीना पसंद करते है।

पुरुष प्रधान समाज होना चाहिए-कम उम्र में पोर्न देखने वाले 

शोधकर्ताओं की टीम ने दावा किया है कि जिन लोगों ने कम उम्र में पोर्न फ़िल्मे देखना प्रारम्भ कर दिया था उनका मनाना है कि समाज को पुरुष प्रधान होना चाहिए। उनका यह भी मानना है कि पुरुषों का प्रभुत्व होने से समाज में चीज़ें बेहतर होती है।

अधिक उम्र में पोर्न देखने वालों में पार्टनर बदलने की इच्छा अधिक होती है –

उधर दूसरी तरफ़ जब अधिक उम्र में पोर्न देखने वाले लोगों से जब सवाल पूछे गए तो यह निष्कर्ष निकल कर आया है कि जो लोग अधिक उम्र में पोर्न फ़िल्में देखते है उनमें पार्टनर बदल-बदल कर सेक्स करने की इच्छा अधिक होती है।

कम उम्र में पोर्न देखने वाले सेक्शूअल लाइफ़ को कम एंजॉय कर पाते है –

शोधकर्ताओं की टीम ने दावा किया है कि जो लोग कम उम्र में ही पोर्न फ़िल्में देख लेते है वह अपनी बाद की लाइफ़ में उतना अधिक सेक्स को एंजॉय नहीं कर पाते है। शोधकर्ता क्रिस्टीना रिचर्डसन कहती है कि ऐसे लोगों के मन में महिलाओं के साथ सेक्स करने को लेकर धारणाओं का तो अंबार होता है लेकिन वे पोर्न फ़िल्मों की तरह से या फिर प्लान करके सेक्स करने के पक्ष में नहीं होते है।

उन्होंने कहा है कि जो लोग बड़ी उम्र में पोर्न फ़िल्में देखते है उनकी सेक्शूअल लाइफ़ कम उम्र में पोर्न देखने वालों से बेहतर होती है और वह अलग-अलग पार्टनर बदल-बदल कर सेक्स करने की तलाश करते रहते है या फिर मौक़ा ढूँढते रहते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here