जातीय आंकड़ों के मकड़जाल में उलझी सीटें

0
85

मैनपुरी। यादव बाहुल्य वाली करहल सीट पर तीन बार से सोबरन सिंह जीतते आ रहे है। एक बार भाजपा और दो बार सपा से। यहां तरकीब 40 प्रतिशत यादव मतदाता है। भितरघात का खतरा यहां के समीकरण को बिगाड़ सकता है। इसी से मिलता जुलता हाल कुछ भोगांव विधानसभा क्षेत्र का भी है। यहां से सपा प्रत्याशी आलोक शाक्य तीन बार से जीतते आ रहे है। इससे पहले इनके पिता रामौतार शाक्य विधायक रहे है। यहां लोधी और शाक्य मतदाताओं की संख्या सर्वाधिक है। दोनों ही सीटें जातीय आंकड़ों के मकड़जाल में उलझी हुई है।
रिपोर्ट – दीपक शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY