सुदिती ग्लोबल एकेडमी में आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में मनाया गया

0
81

मैनपुरी(ब्यूरो)- अनीति, अत्याचार को सहन करते रहना, उनका विरोध न करना एक तरह से आतंकवाद को बढ़ावा देना ही है। देश की भलाई के प्रति प्रत्येक पहलू पर विचार करने वाली संस्था सुदिती ग्लोबल एकेडमी मैनपुरी में 21 मई आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में मनाया गया।

ज्ञातव्य है कि श्री राजीव गांधी जी हमारे देश के एक ऐसे प्रधानमंत्री थे जो तकनीकि के क्षेत्र में विशेष क्रान्ति लेकर आए। वे 21 मई को ही आतंकवादियों की कुचाल का शिकार बने। आतंकवाद एक ऐसा कुचक्र है जिसका विरोध प्रत्येक मनुष्य को करना चाहिए।विद्यालय के वरिष्ठ प्रधानाचार्य डॉ. राम मोहन ने आतंकवाद विरोधी दिवस पर आवासीय विद्यार्थियों एवं अध्यापक-अध्यापिकाओं तथा समस्त कर्मचारियों को आतंकवाद का विरोध करने की शपथ दिलवाई और समझाया कि यह आवश्यक नहीं है कि कोई हमारे साथ गलत करे तभी हम उसका विरोध करें। आवश्यक यह है कि अनीति, अत्याचार जहाँ भी हों, जिसके भी प्रति हों और यदि हम वहाँ पर हैं तो हमें उसका पूर्ण विरोध करना चाहिए। यदि हर नागरिक यह सोचे कि बुराइयों का विरोध करना सभी का कर्तव्य है तो बुराइयाँ पनपने से पहले ही नष्ट हो जाएंगी। आतंकवाद देश के लिए एक बहुत बड़ा कुचक्र है, जिसका हम सभी को विरोध करना चाहिए। हमें दुष्टताओं का दमन करते समय यह कभी नहीं सोचना चाहिए कि हमारा इस बात से क्या सम्बन्ध? हमसे तो कोई कुछ कह ही नहीं रहा है, हम अपनी मौज-मस्ती में रहें, इस तरह की मानसिकता ही समाज में आतंकवाद, अनीति अत्याचार जैसी गतिविधियों को बढ़ावा देती है। बुरे कार्यों का विरोध करना हम सभी की जिम्मेदारी एवं कर्तव्य है। इतिहास साक्षी है कि देश के महापुरुषों में दूसरों की रक्षा में ही अपने जीवन का वास्तविक लाभ समझा, हम सभी को भी समाज की भलाई करना अपना ध्येय बनाना चाहिए और अनीतियों का विरोध करना चाहिए, यदि ऐसा करते हुए हमारी जान भी चली जाए तो हमें उसकी परवाह नहीं करनी चाहिए क्योंकि हमारे एक बलिदान से सैकड़ों लोगों की जान बच सकती हैं। इसलिए हम सभी का यह उद्देश्य होना चाहिए कि आतंकवाद जैसी हरकतें कहीं भी हों, किसी के भी प्रति हों, हम सदैव उनका विरोध करेंगे तभी समाज में सुख-शान्ति स्थापित हो सकती है।

इस अवसर पर विद्यालय की प्रशासनिक प्रधानाचार्य डॉ. कुसुम मोहन, प्रबन्ध निदेशक लव मोहन, उपप्रधानाचार्य जय शंकर तिवारी, कैम्पस कोआॅर्डीनेटर अल्का दुबे एवं समस्त अध्यापक-अध्यापिकाएं उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY