महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी की जयंती बड़ी धूमधाम से मनाई गयी

0
157

वाराणसी (ब्यूरो)- मंडल रेल प्रबंधक एस.के.कश्यप के निर्देश पर मंडुवाडीह कोचिंग डिपो में स्थित मंडल प्रशिक्षण केन्द्र के सभागार कक्ष मे राजभाषा विभाग द्वारा महाकवि सूर्यकान्त त्रिपाठी‘‘निराला’’ की जयंती का आयोजन किया गया ।

इस अवसर पर आयोजित विचार गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए राजभाषा अधिकारी डा0 संजय सिंह ने कहा कि निराला विद्रोही एवं क्रांतिकारी कवि थे । उन्होने जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में नवीन छंद की तलाश की । उन्होने रुढ़िपरक साहित्य के प्रति विद्रोह तो किया ही धर्म की रुढ़ियों एवं समाज में फैले पाखंड को  भी तार-तार कर दिया । उन्होने अपनी कविताओं के माध्यम से जागरण का आह्यवान किया । प्रकृति को भी जीवंत एवं मानवीय रुप में चित्रित किया । उन्होने सरोज स्मृति,राम की शक्ति पूजा, तुलसीदास जैसी कविताओं से महाकाव्यात्मक उदान्त गुणों का परिचय दिया । वरिष्ठ कवि कमला प्रसाद ने निराला के योगदान को पद्यों के माध्यम से रेखांकित करते हुए उन्हे सामाजिक चेतना का कवि बताया।

इस गोष्ठी में मंडुवाडीह कोचिंग डिपो के प्रशिक्षण केन्द्र में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे कर्मचारियों के साथ-साथ अनुदेशक गण उपस्थित रहे । संगोष्ठि में   मनोज दूबे , हर गोविन्द लाल,श्रीमती पूनम त्रिपाठी ,श्री अमरजीत सक्सेना,मोहम्मद अंसारी ने भी महाकवि का महिमा मंडन किया । संगोष्ठी का संचालन श्रीमती मुक्ता सिंह,मुख्य अनुदेशक ने किया। अतिथियों का  स्वागत श्री त्रिलोकिनाथ एवं धन्यवाद ज्ञापन श्री उमाशंकर जयसवाल ने किया ।

रिपोर्ट-त्रिपुरारी यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY