लाखो रुपये लगा कर बनाया गया शमशान गृह केन्द्र चालू होने से पहले ही वीरान हो गया

1
271

shav dah grah

कालाकांकर/कुंडा-
जी हॉ गंगा सफाई अभियान को लेकर केंद्र की मोदी सरकार द्वारा जगह-जगह पर शवो के अंतिम संस्कार के लिये विद्युत शवदाह गृह बनावाने का निर्णय लिया गया था|

गौरतलब है कि इस पुनीत कार्य के लिए हर ब्लाक मे शवदाह गृह के लिये लाखो का बजट खर्च कर मंहगी जमीनें खरीदी गयी थी| जिलों में इसके लिए बड़े-बड़े टेन्डर हुये और 2016 जनवरी में काम तीव्र गति से शुरू हुआ| आम जनता के लाखो रु. पानी की तरह बहाये गये|

बताते चलें कि, फरवरी मे मानिकपुर थाने के एक एस.आई. और तीन सिपाही इसी जगह चल रही जेसीबी रुकवाने मे सस्पेंड भी हुये थे| मई-2016 को शमशान गृह केन्द्र बनकर तैयार हुआ और जॉच हुयी पेमेन्ट भी हो गयी|

25 जून2016 से शमशान गृह केन्द्र गिरना शुरू हो गया जुलाई अगस्त तक ही यह इमारत खण्डहर सी लगने लगी और लाखो की लागत से बन यह केन्द्र भूतघर बन गया जनता का लाखों रु. तो गये ही साथ मे चार पुलिसकर्मी भी बली का बकरा बने थे, बनने के मात्र दो माह मे हीं ये शमशान घाट गिरगया बड़ी बात यह हैं कि अभी तक किसी नेता ने इसका उद्घाटन करने नही आया और ना ही अधिकारी और विभाग ने इसकी सुध ली इसमे कमी किसकी है ठेकेदार की जिसने इसका निर्माण किया या उस अधिकारी की जिसने जॉच कर पेमेंट पास करवाया यह बहुत ही रहस्यमयी जॉच का विषय है|

शमसान गृहकेन्द्र मानिकपुर के मिरगढ़वा चौराहे से लालाबाजार रोड पर बनाया गया मिरगढ़वा से 5 किमी दूरी लाला बाजार से 2 किमी की दूरी पे है|
रिपोर्ट- विश्व दीपक त्रिपाठी/पंकज मौर्य
.हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here