डॉक्टर्स-डे पर चेंबर ने डॉक्टरों को किया सम्मानित

0
88

बरवाअड्डा (ब्यूरो) कहते हैं डॉक्टर भगवान् के रूप होते है। जनता के विश्वास की डोर होते है डॉक्टर वर्तमान में डॉक्टरी ही एक ऐसा पेशा है, जिस पर लोग विश्वास करते है। इसे बनाये रखने की जिमेवारी सभी डॉक्टरों पर है।डॉक्टर्स डे स्वयं डॉक्टरों के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है, क्योंकि यह  उन्हें अपने चिकित्सकीय प्रैक्टिस को पुनर्जीवित करने का अवसर देता है।

इसी क्रम में शनिवार को डॉक्टर डे  के अवसर पर बरवाअड्डा चेंबर के तरफ से डॉक्टर डे मनाया गया जिसमें बरवाअड्डा क्षेत्र में अपनी सेवा दे रहे डा. सुभाष चंद्रा, डा. अनुपमा, डा. हरिनारायण, डा. टी के साहा एवं डा.अनूप शर्मा को चेंबर अध्यक्ष गोपाल महतो के अगुवाई में फूलों का गुलदस्ता देकर सम्मानित किया गया।  डॉक्टरों का कहना था इस तरह का कार्यक्रम बरवाअड्डा क्षेत्र में पहली आयोजित किया गया, और तहे दिल से चेंबर को धन्यवाद कहा।

क्यों मनाया जाता है डॉक्टर्स डे
महान भारतीय चिकित्सक डॉक्टर विधान चंद्र राय का जन्म दिवस 1 जुलाई को मनाया जाता है। उनका जन्म 1983 में बिहार के पटना जिला में हुआ था। कोलकाता में चिकित्सा शिक्षा पूर्ण करने के बाद डॉक्टर राय ने एमआरसीपी और एफ आरसीएस की उपाधि लंदन से प्राप्त की। उनकी सेवा भावना ने उन्हें राजनीति में ले आई। राजनिति में कुछ समय गुजरने के बाद वो बंगाल के मुख्यमंत्री भी बने। डा. राय को भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था। उनके जन्म दिवस को डॉक्टर डे के रूप में मनाया जाता है।
कार्यक्रम को सफल बनाने में इन लोगो की अहम् भमिका रही सचिव पप्पू सिह, वरीय उपाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह, कोषाध्यक्ष कुलदीप पंडित, पीताम्बर हजारी, दिलीप विश्वकर्मा, गोलक बिहारी मंडल, प्रवेश मिश्रा, कमल महतो, डिजापद महतो, पन्नालाल महतो एवं संतोष विश्वकर्मा समेत दर्जनों लोग मौजूद थे।

रिपोर्ट संतोष कुमार राय

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY