टिकट बुकिंग में धांधली रोकने के लिए नियमों में हुए बदलाव |

0
226

The Union Minister for Railways, Shri Suresh Prabhakar Prabhu addressing at the signing ceremony of MoUs with the State Governments of Kerala and Andhra Pradesh, in New Delhi on January 27, 2016.

रेल मंत्रालय ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग की धांधली रोकने के लिए नियमों में बड़े बदलाव करने का फैसला किया है. नए नियमों के तहत आईआरसीटीसी की वेबसाइट से किसी एक लॉगिन से महीने भर में महज 6 टिकट ही बुक कराई जा सकेंगी |
इस समय एक लॉगिन से एक महीने में अधिकतम 10 ऑनलाइन टिकट बुक कराने की सुविधा है. ऑनलाइन टिकटिंग के लिए नियमों में बदलाव 15 फरवरी से लागू होंगे, नियमों में बदलाव रेलवे टिकट दलालों पर लगाम लगाने के लिए किए जा रहे हैं |

रेलवे ने पिछले कुछ दिनों में आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर ऑनलाइन टिकटिंग में होने वाले गोलमाल को रोकने के लिए कई प्रभावी कदम उठाएं हैं, आइए जानते हैं क्या हुए बदलाव-

1- एडवांस टिकट बुकिंग पीरियड के लिए सुबह 8 बजे से 10 बजे तक एक यूजर आईडी के जरिए सिर्फ दो ऑनलाइन टिकट ही बुक किए जा सकते हैं |
2- तत्काल टिकट की ऑनलाइन बुकिंग के लिए सुबह 10 से 12 बजे तक एक यूजर आईडी से महज दो टिकट की बुकिंग ही हो सकती है |
3- सुबह 8 बजे से लेकर सुबह 10 बजे तक आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर क्विक बुक ऑप्शन को निष्क्रिय कर दिया गया है |
4- सुबह 8 बजे से लेकर 8:30 तक आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर कोई भी बुकिंग एजेंट जनरल बुकिंग के लिए लॉगिन नहीं कर सकता है, सुबह 10 बजे से 10:30 तक तत्काल कोटे के एसी टिकटों की बुकिंग, बुकिंग एजेंट नहीं कर सकते हैं |
5- सुबह 8 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक ई-वॉलेट और कैश कार्ड के जरिए ऑनलाइन टिकट की बुकिंग को रोक दिया गया है |
6- सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक एक लॉगिन से रिटर्न या ऑनवर्ड जर्नी के अलावा सिर्फ एक बुकिंग ही कराई जा सकती है |
इन बदलावों के बाद अब आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर एक लॉगिन पर महीने भर में सिर्फ 6 टिकट बुकिंग कराने की लिमिट को 15 फरवरी से लागू कर दिया जाएगा, रेलवे ने आईआरसीटीसी वेबसाइट पर यात्रियों के बुकिंग ट्रेंड को देखकर ये फैसला लिया है |
रेलवे के अनुसार 90 फीसदी यात्री एक महीने में ज्यादा से ज्यादा 6 टिकट ही ऑनलाइन बुक कराते हैं. सिर्फ 10 फीसदी लॉगिन ऐसी हैं जिनमें हर महीने 10 टिकट ऑनलाइन बुकिंग कराई जाती है, रेलवे ने अपने अध्ययन में ये अनुमान लगाया है कि ऐसे लॉगिन टिकट दलालों के हो सकते हैं. लिहाजा रेलवे ने ये नए नियम जारी किए हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY