छत्तीसगढ़ शासन ने 152 करोड़ के घोटाले के आरोपी को बनाया बिजली कंपनी में डायरेक्टर – भूपेंद्र सिंह

0
172

ntpc

छत्तीसगढ़- शासन ने एक बार फिर घोटाले के आरोपियों को फायदा पहुचाते हुए राज्य पावर कंपनी में डायरेक्टर बना दिया है। सामाजिक कार्यकर्ता भूपेंद्र सिंह ने बताया कि कुछ दिन पूर्व छत्तीसगढ़ राज्य पावर कंपनी के चीफ इंजीनियर (कमर्शियल) के पद से रिटायर हुए जी. के. मुखर्जी को पदोन्नति देकर विभाग में डायरेक्टर बनाया है।

अपने कार्यकाल में रिटायर होने से पूर्व उन्होंने जिंदल स्टील एन्ड पावर के द्वारा छत्तीसगढ़ शासन को घटिया बिजली सप्लाई करने के बाद भी वर्ष 2011-12, 2012-13 में शासन को चूना लगाते हुए जिंदल को 152 करोड़ का भुगतान करवा दिया था। जिस मामले का खुलासा सामाजिक कार्यकर्ता भूपेंद्र सिंह ने किया था साथ ही न्यायालय और मुख्यमंत्री को भी इस प्रकरण की शिकायत की थी।

जिस पर बिजली न्यायालय दिल्ली (APTEL) ने अपील क्रमांक 41 और 67 के दिनांक 26 मई 2016 के आदेश में भी उक्त अवैध भुगतान को सही पाया जिसके बाद जिंदल से वसूली के लिए डिमांड नोट जारी किया गया था और जिंदल को राज्य के बाहर बिजली बेच जाने से वंचित कर दिया था।

भूपेंद्र ने कहा उक्त मामले में आपराधिक प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही किये जाने आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (EOW) में नामजद शिकायत भी की है जिसकी जांच भी लंबित है ऐसे में सरकार ने ऐसे भ्रष्ट आरोपी को फिर से उच्च पद पर बड़े भ्रष्टाचार के लिए बैठाया है जिसका वो विरोध करते है । ऐसे भ्रष्ट अधिकारी को नहीं हटाया गया तो राज्य सरकार को इस मामले में कटघरे मे भी खड़ा करेंगे ।

रिपोर्ट-हरदीप छाबडा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here