मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताई मत्स्य पालन से जुडी योजनायें

प्रतीकात्मक

बलिया(ब्यूरो)- मत्स्य पालक विकास अभिकरण मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय कुमार ने बताया है कि वर्ष 2017-18 में जल प्लावित क्षेत्रों में मत्स्य पालन कराये जाने हेतु जल प्लावित योजनान्तर्गत लक्ष्य प्राप्त हो गये है।

उक्त योजनान्तर्गत कृषि हेतु अनुप्रयोज्य, अनुपजाऊ व जल मग्न भूमि में तालाब निर्माण कराकर उन्हें मत्स्य पालन से अच्छादित कराये जायेगें। इस हेतु प्रति हेक्टेयर 1.25 लाख की योजना प्रस्तावित है, जिसमें 20 प्रतिशत धनराशि लाभार्थी द्वारा स्वयं वहन किया जायेगा एवं शेष विभाग द्वारा अनुदानित होगा।

इसी प्रकार मत्स्य पालक विकास अभिकरण के माध्यम से 1.00 हेक्टेयर के स्वामित्व वाले मत्स्य पालकों के तालाबों हेतु 0.10 हेक्टेयर की नर्सरी निर्माण हेतु कुल 10 मत्स्य पालकों का चयन समिति द्वारा किया जायेगा। जिसके अध्यक्ष मुख्य विकास अधिकारी होगें। योजनान्तर्गत तालाबों में मत्स्य उत्पादन क्षमता विकास हेतु मत्स्य पालकों को मत्स्य बीज संवर्धन हेतु नर्सरी निर्माण के लिए प्रति इकाई 0.50 लाख की योजना प्रस्तावित है, जिसमें 50 प्रतिशत धनराशि लाभार्थी द्वारा स्वयं वहन किया जायेगा एवं शेष विभाग द्वारा अनुदानित होगा। उक्त हेतु इच्छुक कृषक मत्स्य पालक एक सप्ताह के अन्तर्गत कार्यालय के किसी भी कार्य दिवस में अपना आवेदन दे सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here