प्रमुख सचिव रायबरेली जिले के महाराजगंज तहसील क्षेत्र का किया दौरा

0
65

महराजगंज/रायबरेली (ब्यूरो) –सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महराजगंज व कोतवाली के औचक निरीक्षण में पहुंचे प्रमुख सचिव नवनीत सहगल द्वारा सभी अभिलेखों की गहनता से जांच की गई जिसमें दोनों विभाग के कर्मचारियों में हड़कंप मचा गया, तथा अफरा-तफरी का माहौल रहा।बताते चलें कि एक दोपहर 1:10 पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महराजगंज का औचक निरीक्षण करने पहुंचे प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने सीएचसी में व्याप्त गंदगी को देखकर अधीक्षक राधाकृष्णन को जमकर फटकार लगाई तो वहीं सुधारने के निर्देश दिए।दवा स्टॉक रजिस्टर की जांच की जिसमें कमी पाई गई, जिस पर भी फटकार लगाई, वहीं दवाई स्टाफ रूम में स्टॉक रजिस्टर दवा से मेल न खाने के चलते भी फटकार लगाई एंव दवाओं में अनियमितता देख बिफर गए, प्रसव रजिस्टर को देखा जननी सुरछा और मातृत्व लाभ योजना के रजिस्टर मे कमी पाये जाने पर और समय से लाभार्थियों के खाते में पैसा न पहुचने पर कड़े लहजे में चेतावनी देते हुए सुधारने को कहा नही तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

वहीं उसके बाद लगभग 2:00 बजे कोतवाली महराजगंज का निरीक्षण करने पहुंचे प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने रजिस्टर, FIR रजिस्टर, आवेदक रजिस्टर,अपराध रजिस्टर तथा आईजीआरएस वा समाधान दिवस रजिस्टर की भी गहनता से जांच की और समाधान दिवस रजिस्टर में दर्ज मोबाइल नंबर पर फोन करके निस्तारण की बात पूछी, जिस पर निस्तारण गलत पाया गया। उस पर भी कोतवाली प्रभारी को फटकार लगाई।वहीं कोतवाली गेट पर खड़े सलेथू गांव के पीड़ित व पूर्व प्रधान इसरार हुसैन उर्फ कल्लू को बुलाकर पूछा कि क्या काम है। जिस पर इसरार हुसैन ने बताया कि कल कुछ दबंगों द्वारा मेरे भाई को मारा पीटा गया है, जिस पर कोतवाली पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज किया लेकिन कोई कार्यवाही नहीं है तथा मेरे भाई को कल से लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही है, जिस पर कड़े अंदाज में प्रमुख सचिव ने गिरफ्तारी के बारे मे कोतवाल से पूंछा और कहा कि, जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार करे।

वही सवा तीन बजे तहसील पहुँचे प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने रजिस्ट्रार कानूनगो दर्शन बाबू से बाढ़ राहत की जानकारी ली जिस पर बाल राहत का रजिस्टर पर स्वीकृत 3 लोगों में से मात्र 1 लोग का ही बाढ़ राहत का लाभ मिला था जिस पर प्रमुख सचिव ने आर के बाबू दर्शन को कड़ी चेतावनी देते हुए फटकार लगाई और प्रमुख सचिव ने अमल दरामद रजिस्टर को देखा जिस में खामियां ही खामियां नजर आई काफी दिनों से अमल दरामद ना होने पर गणेश बाबू को भी कड़ी चेतावनी देते हुए जल्दी अमल दरामद के निर्देश दिए और तहसीलदार को भी इस मामले में चेतावनी दी तहसीलदार से कहा कि 1 हफ्ते से ज्यादा अमल दरामद पेंडिंग नहीं होना चाहिए वही आय जाति व निवास प्रमाण पत्र की भी गहनता से जांच की तथा भारी मात्रा में प्रमाण पत्र निर्गत ना किए जाने पर लेखपालों को फटकार लगाई और कहा कि किसानों की समस्याओं को देख कर त्वरित निस्तारण किया जाए|

तथा आईजीआरएस रजिस्टर में भी पेंडिंग शिकायती पत्र पाए जाने पर नाराजगी प्रकट की वही अमर सिंह पुत्र राणा थाना बछरावां द्वारा कब्जा हटाने को लेकर किए गए शिकायती पत्र पर निस्तारण लिख दिया गया जबकि शिकायती पत्र में पड़े दूरभाष नंबर पर प्रमुख सचिव नवनीत सहगल फोन कर निस्तारण की बात जानी तो शिकायतकर्ता ने कहा कि अभी मामला जस का तस पड़ा है तथा दबंग लोग कब्जा किए हुए हैं जिस पर नाराजगी जताते हुए कहा कि उप जिलाधिकारी शालनी प्रभाकर मौके पर जाकर मामले का निस्तारण करें वही कुल 1530 आईजीआरएस में 1244 निस्तारित हो गए बाकी निस्तारण की हकीकत पूछी तो संबंधित कर्मचारी ने कहा कि 283 निस्तारण बाकी है जल्दी निस्तारण किया जाएगा 1 सप्ताह के अंदर निस्तारण के निर्देश प्रमुख सचिव ने दिए हैं वही उप जिलाधिकारी कार्यालय में बैठकर प्रमुख सचिव ने 100 डायल पुलिस व 108 एंबुलेंस को फोन करवा कर तहसील परिसर में दुर्घटना व मारपीट की बात कही जिस पर 8 मिनट के अंदर पीआरबी 3286 सर सुधाकर सिंह यादव वसंत चंद्र मिश्रा मौके पर पहुंचे और बताया कि हम दोनों 100 डायल से आए हैं|

जिस पर प्रमुख सचिव ने समय से पहुंचने पर दोनों को अच्छे कार्य की बधाई दी तो वहीं 108 एंबुलेंस के ना पहुंचने पर नाराजगी जाहिर की और मौके पर मौजूद डिप्टी सीएमओ डॉक्टर चक् को जाँच कर कारवाई करने के निर्देश दिए वही तहसील दिवस रजिस्टर की गहनता से जांच की और राम लल्लन पुत्र प्रताप जिनका मोबाइल नंबर शिकायती पत्र में पढ़ा था जिस पर प्रमुख सचिव ने दूरभाष पर शिकायती पत्र के निस्तारण की बात पूछी जिस पर शिकायतकर्ता ने प्रमुख सचिव ने बताया कि तहसील प्रशासन द्वारा फर्जी रिपोर्ट लगा दी गई है कब्जा जस का तस बना है प्रतिपक्षी आए दिन मार करने पर आमादा है जिस पर प्रमुख सचिव ने उप जिलाधिकारी शालिनी प्रभाकर और तहसीलदार विनोद कुमार सिंह को फटकार लगाते हुए करें लहजे में कहा कि निस्तारण सही ढंग से किया जाए अन्यथा दोबारा मुझे मौका मिला इस तहसील का जांच करने का तो कुछ कर्मचारी व अधिकारी सस्पेंड कर दिए जाएंगे वही पत्रकार वार्ता के दौरान प्रमुख सचिव सहगल ने कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजनाएं अधिकारी व कर्मचारी जन-जन तक पहुंचाए अन्यथा हीलाहवाली करने वाले अधिकारी व कर्मचारी बख्शे नहीं जाएंगे इसके बाद प्रमुख सचिव का काफिला ओडीएफ गांव नारायणपुर जूनिहा पहुंचा चौपाल लगाकर ग्रामीणों समस्या सुनी।

जुनिहा जाते समय प्रमुख सचिव ने देखा कि सड़कों में काफी गड्ढा है और रोड की शिकायत ग्रामीणों ने भी किया जिस पर अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी को फटकार लगाते हुए रोड सही कराने के निर्देश दिए वही जूनिया निवासी फूल दुलारी पत्नी गजोधर ने आशा बहू और ए एन एम की शिकायत करते हुए कहा कि मैं अपने डिलीवरी के लिए सरकारी अस्पताल गई थी लेकिन मुझे बहलाकर जबरदस्ती आशा बहू और एनम प्राइवेट अस्पताल ले गई वही ग्रामीणों ने विद्युत विभाग की सबसे ज्यादा शिकायत की जिस पर अधिशासी अभियंता को फटकार लगाते हुए गांव में कैंप करने के निर्देश दिए ग्रामीणों द्वारा कृषि विभाग की भी शिकायत की गई ग्रामीणों ने बताया कि कृषि विभाग के अधिकारी किसानों को सरकार द्वारा आने वाली योजना और छूट के बारे में नहीं बताते हैं जिस पर प्रमुख सचिव फटकार लगाते हुए कृषि विभाग के अधिकारियों को खाद और बीज और कृषि विभाग की योजनाओं के बारे में ग्रामीणों को जानकारी देने के निर्देश दिये।इस मौके पर जिलाधिकारी संजय खत्री सी डी ओ डिप्टी सी एम ओ एस के चक उप जिलाधिकारी शालनी प्रभाकर सी ओ गोपीनाथ सोनी कोतवाल राकेश कुमार सिंह खण्ड विकास अधिकारी आर बी सिह डाक्टर राधाकृष्ण आदि लोग मौजूद रहे।

रिपोर्ट – मोनू अवस्थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here