चीन भी मानता हैं कि भारत को समुद्र के रास्ते घेरना संभव नहीं

0
718

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की नेवी के शीर्ष अफसर कैप्टन वी जियाओ डोंग ने संघाई में भारतीय पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा हैं कि समुद्र के रास्ते से भारत को घेरना संभव ही नहीं हैं I उन्होंने आगे अपने बयान के दौरान कहा कि अगर चीन श्रीलंका या फिर पकिस्तान में अपने पनडुब्बी या फिर पोत के जरिये यात्रा करता हैं तो उससे भारत को चिंता नहीं करनी चाहिए I

 Chinese Navy nuclear-powered submarine . (AP Photo/Guang Niu, Pool, File)
Chinese Navy nuclear-powered submarine . (AP Photo/Guang Niu, Pool, File)

कैप्टन वी जियाओ डोंग ने अपनी बात को और साफ़ करते हुए कहा हैं कि हिन्द महासागर में चीनी पनडुब्बी की तैनाती समुद्री डाकुओं से निपटने के लिए की गयी हैं, आपको ज्ञात हो कि हाल ही चीन की पनडुब्बियों की श्रीलंका के कोलम्बो और पकिस्तान के करांची बंदरगाह पर होने पर भारत की तरफ से कड़ी प्रतिक्रिया ब्यक्त की गयी थी I और चीन ने पकिस्तान के करांची की यात्रा भारत की समुद्री सीमा के भीतर से की थी, इस पर काफी गहमा-गहमी भी हुई थी, लेकिन उसके बाद भारतीय नौ सेना ने साफ़ किया था कि चीन के पकिस्तान जाने से या फिर कोलम्बो में होने से चिंता की कोई बात नहीं हैं I

 

कैप्टन वी जियाओ डोंग ने आगे कहा कि चीन रक्षात्मक शैली में विश्वास रखता हैं, उन्होंने आगे कहा कि हमारा उद्देश्य किसी भी देश को डराना नहीं हैं, कैप्टन ने अपनी बात को आगे बढाते हुए कहा हैं कि चीन इस क्षेत्र में न तो अपना अधिकार जमाना चाहता हैं और न ही अपना वर्चस्स्व स्थापित करना चाहता हैं I और साथ ही उन्होंने ऐसा भी कहा हैं कि चीन का समुद्री सीमा में ताकत के विस्तार का कोई भी इरादा नहीं हैं I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

18 − three =