चीन की भारत को सीधी चेतावनी कहा, वन बेल्ट वन रोड का समर्थन करें भारत नहीं देखेगा हमारा बढ़ता हुआ दबाव

0
129


बीजिंग : चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक चीन ने अपने राष्ट्रपति शी जिनपिंग की सबसे महत्वाकांक्षी परियोजना वन बेल्ट वन रोड मैं भारत का समर्थन प्राप्त करने की कोशिश की है। चीन के इस अखबार ने लिखा है कि वन बेल्ट वन रोड प्रोजेक्ट को लेकर भारत को बेहद व्यवहारिक रवैया अपनाना चाहिए और यही भारत के लिए बेहद फायदेमंद भी होगा। साथ ही चीनी अखबार के इस लेख में यह भी लिखा गया है कि यदि भारत इस प्रोजेक्ट के प्रति व्यवहारिक रवैया नहीं अपनाता है तो वह अपने चारों तरफ चीन का बढ़ता हुआ दबाव देखेगा।

चीन ने दी भारत को सीधी चेतावनी-
चीनी मीडिया में आई खबर के मुताबिक बताया जा रहा है कि चीन ने भारत को लेकर बेहद कड़ा रुख अपना लिया है। चीन के एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक बताया जा रहा है कि चीन ने कहा है कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट वन बेल्ट वन रोड को भारत के अलावा दुनिया के तमाम मुल्कों का व्यापक समर्थन प्राप्त हो रहा है। इसलिए भारत को इस प्रोजेक्ट से या तो दूर रहना चाहिए या फिर इसका समर्थन करना चाहिए और यदि भारत ऐसा नहीं करता है तो भारत को इस प्रोजेक्ट को लेकर बेहद सावधानीपूर्वक कदम उठाने चाहिए यही भारत के लिए बेहद फायदेमंद होगा।

भारत का समर्थन चाहता है चीन-
ग्लोबल टाइम्स में लिखे इस लेख में आगे कहा गया है कि यदि भारत इस प्रोजेक्ट से दूसरे देशों को दूर रखने में असमर्थ रहता है तो उसे स्वयं भी इस प्रोजेक्ट का हिस्सा बनना चाहिए और इसका व्यापक समर्थन करना चाहिए। इसमें ही भारत का सबसे बड़ा फायदा है लेख में लिखा गया है कि यदि भारत ऐसा नहीं करता है तो भारत अपने चारों तरफ चीन का बढ़ता दबाव देखने के लिए विवस होगा।

वन बेल्ट वन रोड प्लान-
आपको बता दें कि वन बेल्ट वन रोड ओ बी ओ आर प्रोजेक्ट चीन के मौजूदा राष्ट्रपति शी जिनपिंग का सबसे पसंदीदा प्रोजेक्ट है इस प्रोजेक्ट के तहत चीन एशिया के साथ साथ यूरोप के तमाम देशों को सड़क मार्ग से जोड़ना चाहता है यदि चीन प्रोजेक्ट में सफल होता है तो वह एक ही साथ दुनिया के कई बड़े बंदरगाहों से जुड़ जाएगा जिसका सीधा फायदा चीन को होगा चीन इन तमाम देशों से सड़क मार्ग से भी सीधे व्यापार कर सकेगा।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY