NSG मामले में मुसीबत में फंसा चीन, नियमों के उल्लंघन का आरोप, भारत का रास्ता हुआ आसान

0
30181

Xi-Jinping
NSG मामले में भारत का विरोध करने वाला चीन अब मुसीबत में पड़ गया है, NSG में भारत का कड़ा विरोध करते हुए चीन ने नियमों और एनपीटी का हवाला दिया था और अब इस रिपोर्ट में चीन पर ही एनपीटी के नियमों के उल्लंघन का आरोप लग रहा है |

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक खुलासा हुआ है कि चीन ने एनपीटी का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तान को परमाणु रिएक्टर बेंच रहा है, अंतर्राष्ट्रीय आर्म्स कण्ट्रोल एसोसिएशन की रिपोर्ट के मुताबिक पकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी मानकों के तहत नहीं आता है और ऐसे किसी भी देश को परमाणु रिएक्टर देना एनपीटी के नियमों का स्पष्ट उल्लंघन है |

गौरतलब है कि चीन ने परमाणु अप्रसार संध‍ि का हवाला देकर ही एनएसजी (परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह) में शामिल होने का भारत का रास्ता रोका था| चीन ने कहा गैर-एनपीटी देश को एनएसजी में शामिल करने से परमाणु अप्रसार के प्रयासों को धक्का पहुंचेगा |

चीन ने 2013 में चस्मा-3 रिएक्टर के लिए पाकिस्तान के साथ की गई डील से एनपीटी के सहमति दस्तावेजों का उल्लंघन हुआ है, इस सहमति पत्र में नए सिरे से कहा गया है कि जिस भी देश को न्यूक्लियर मटीरियल और टेक्नोलॉजी ट्रांसफर की जाएगी, उसे आईएईए के मानकों को स्वीकार करना होगा |

चीन ने पाकिस्तान को अबतक 6 परमाणु रिएक्टर बेंचें हैं, हालाँकि इस मामले में चीन का कहना है कि यह सौदा उसके एनपीटी पर हस्ताक्षर करने से पहले का है और इस वजह से इस सौदे से एनपीटी के नियमों का कोई उल्लंघन नहीं होता |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY