चीन ने कहा भारत का परमाणु रिकार्ड पाक से बेहतर लेकिन NSG में दोनो को मिले जगह

0
519

नई दिल्ली– चीन ने NSG के मुद्दे पर एक बार फिर से खुलकर बात करते हुए कहा है कि यह सच है कि भारत का रिकार्ड पाकिस्तान से बेहतर है लेकिन 48 देशों वाले इस समूह में भारत को शामिल करते वक़्त किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए। बता दें कि यह बयान चीनी अधिकारी ने दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में कही है।

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य जियांग्वू ने 19वें एशियाई सुरक्षा सम्मेलन में कहा कि एनएसजी की सदस्यता के लिए दोनों देशों की स्थिति समान है और दोनों को ही एक बार एमएसजी समूह में शामिल होने का मौका मिलना चाहिए ताकि वो वैश्विक स्तर पर परमाणु क्षेत्र से जुड़े आर्थिक और तकनीकी फैसले ले जियांग्वू ने कहा कि अगर चीन एनएसजी में भारत का समर्थन करता है तो पाकिस्तान को आख़िर क्यों नहीं।

जियांगवू ने कहा है कि पाकिस्तान भी चीन का दोस्त है और उसके साथ भेदभाव नहीं करते हुए पाकिस्तान को भी बराबर का मौका मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर चीन की अपनी स्थिति है और वो सभी के सामने स्पष्ट है।

सीमा विवाद पर भी बोले चीनी अधिकारी –
भारत और चीन के मध्य सीमा विवाद के मुद्दे पर बातचीत के दौरान चीनी अधिकारी ने कहा है कि यह काफ़ी जटिल मुद्दा है और दोनो ही देशों को इसे आपसी तालमेल के ज़रिए ही सुलझाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि यदि भारत इस दिशा में आगे बढ़ता है तो चीन निश्चित ही इस क़दम का स्वागत करेगा और साथ ही इसे आगे भी बढ़ाएगा।

आपको ज्ञात हो कि चीन प्रारम्भ से ही भारत का NSG मुद्दे पर विरोध करता आ रहा है। चीन हर बार दलील देता है कि भारत जब तक एनपीटी पर हस्ताक्षर नहीं करता है तब तक चीनी सरकार NSG के मुद्दे पर भारत का समर्थन नहीं कर सकती है। साथ ही यह भी बता दें कि चीन की सबसे बड़ी महत्वाकांक्षा यह है कि यदि भारत को NSG की सदस्यता मिलती है तो पाकिस्तान को भी इसकी सदस्यता मिलनी चाहिए।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here