चीन बाज नहीं आ रहा है अपनी हरकतों से, अब विवादित द्वीपों से शुरू करेगा फ्लाईट

0
319

नई दिल्ली- साऊथ चाइना सी में विवादित द्वीपों को लेकर चल रहा विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है I अब साऊथ चाइना सी के मामले में चीन का सीधा अमना – सामना अमेरिका से हो रहा है I अमेरिका ने प्रारंभ से ही इस मामले में अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी लेकिन चाइना ने अमेरिका को दरकिनार करते हुए पहले तो विवादित समुद्री क्षेत्रों में कृत्रिम तरीके से टापुओं का निर्माण कराया और उसके बाद वहां पर इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट किया उसके बाद वहां पर रडार स्थापित की और अब उस विवादित टापू से विमान सेवा भी शुरू करने जा रहा है I

चीन की इस नापाक हरकत का खुलासा चीन की ही सरकारी न्यूज़ एजेंसी ने किया है I चीनी समाचार एजेंसी के अनुसार चीन इसी साल के अंत तक विवादित टापू वूडी आइलैंड से अपने शहर सान्शा तक विमान सेवा शुरू करेगा I

क्या है चीन का उद्देश्य –
विवादित चीन सागर में कृत्रिम द्वीपों का निर्माण करना फिर वहां पर इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलप करना और उसके बाद वहां राडार सिस्टम स्थापित करना तथा बाद में अब वहां से हवाई सेवा की शुरुआत करने के पीछे चीन का मकसद एकदम साफ़-साफ़ नजर आ रहा है I यह सब करके चीन समूचे विवादित चीन सागर में अपना आधिपत्य स्थापित करना चाहता है I चीन ऐसा इसलिए भी कर रहा है क्योंकि न केवल सामरिक द्रष्टिकोण से ही उसके अलावा आर्थिक द्रष्टिकोण से भी यह समुद्री एरिया चीन के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है I बताया जा रहा है कि चीन के इस विवादित सागर में प्राकृतिक गैस और प्राकृतिक तेल का बहुत बड़ा भण्डार है चीन धीरे-धीरे इस पूरे इलाके पर अपना कब्ज़ा जमाकर उस पूरे क्षेत्र पर अपना आधिपत्य स्थापित करना चाहता है I जहां से उसे बहुत बड़ी मात्रा में तेल और गैस प्राप्त हो सकता है I

और कौन-कौन से देश कर रहे है दावा –
इस विवादित समुद्री क्षेत्र पर चीन के अलावा चीन के ही पडोसी देश मलेशिया, ब्रूनेई, फिलिपिन्स, ताइवान और वियतनाम भी अपना दावा पिछले काफी समय से जाता रहे है लेकिन इनमें से किसी भी देश के पास न ही इतनी सैन्य क्षमता है कि वह चीन के इस कदम का सख्ती से विरोध कर सकें और नहीं उनके पास समुद्र में इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट करने की ही इतनी क्षमता है कि वह इस इलाके में अपना अधिकार जमा सकें I इन्ही कारणों को देखते हुए ही चीन अकेले ही इस पूरे इलाके में अपना आधिपत्य जमाने में कामयाब हो रहा है I

क्या कह रहा है अमेरिका –
अमेरिका के विदेश विभाग की प्रवक्ता के अनुसार चीन को साउथ चीन सागर में किसी भी प्रकार के सामरिक एक्टिविटी से दूर रहना चाहिए I उन्होंने कहा है कि चीन को खुद से यह कोशिश करनी चाहिए कि वह इस विवादित समस्या को हल करने के लिए एक मसौदा तैयार करें और इस विवाद को समाप्त करने की कोशिश करे I

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमाराफेसबुक पेजऔर आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here