कोटेदार की शिकायत प्रधान प्रतिनिधि को पड़ी भारी, तहसील परिसर में भिड़े दोनों पक्ष

0
101

रसडा/बलिया (ब्यूरो) – इस दौर में किसी मुलाजिम की सरकारी अधिकारियों से शिकायत करना खतरे से खाली नहीं है। आलम यह है कि शिकायतकर्ता को शिकायत करने से पूर्व अपने साथ मुसटंडों को साथ लेकर चलना आवश्यक प्रतीत हो रहा है। मंगलवार को रसड़ा में घटी घटना तो कुछ इसी तरफ इशारा कर रही है।  हुआ यूं कि जनपद के रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के कैथीकला गांव के कार्ड धारकों की शिकायत लेकर मंगलवार को तहसील परिसर में तहसीलदार से मिलने गए। जब इसकी भनक कोटेदार को हुई तो वह दल बल के साथ तहसील परिसर में आ धमका और ग्राम प्रधान प्रतिनिधि कृष्ण कुमार सिंह मुन्ना व उनके अन्य साथियों से भिड़ गया। कुछ ही पल में दोनों तरफ से जूतम पैजार शुरू हो गई । हालांकि मौके पर मौजूद लोगों ने जैसे-तैसे दोनों पक्षों को अलग किया|

लेकिन बात इतनी बढ़ गई कि प्रधान पक्ष के लोग कोतवाली में पहुंच गए और कोटेदार के खिलाफ मारपीट करने का मुकदमा दर्ज करने की मांग कोतवाल से करने लगे । मामला बिगड़ता देख प्रभारी निरीक्षक ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए ग्राम प्रधान प्रतिनिधि व उनके साथ आये ग्रामीणों को कोटेदार के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया। पुलिस को दी गई तहरीर में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि कृष्ण कुमार सिंह ने आरोप लगाया है कि कार्ड धारकों की समस्या को लेकर वे कार्ड धारकों के साथ तहसील परिसर तहसीलदार से मिलने गए हुए थे तभी तहसीलदार कक्ष के बाहर कोटेदार संतोष सिंह द्वारा उनके भाई तथा अन्य कार्डधारकों से मारपीट शुरू कर दी। सूचना पाते ही जब मै तहसीलदार कक्ष से बाहर निकला तो कोटेदार हमसे भी भीड़ गए और हाथा-पाई व मारपीट करने लगा ।

रिपोर्ट – पिन्टू सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here