चोटी कटने की चर्चा से लगा मजमा, पुलिस की जांच में मामला संदिग्ध

लालगंज/प्रतापगढ़ (ब्यूरो)- लालगंज कोतवाली के रोहाड़ा गांव के बकियन का पुरवा गांव में शनिवार को महिला की चोटी कटने की चर्चा जंगल में आग की तरह फैल गई। पीड़िता के घर के लगे मजमे के बीच सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस भी पहुंच गई। पुलिसिया जांच पड़ताल में फिलहाल घटना संदिग्ध प्रतीत हो रही है। कोतवाली क्षेत्र के गांव निवासी पीड़ित महिला के परिजनों की मानें तो बीती शुक्रवार की रात हरकेश सरोज की पत्नी सुमन 29 परिवार के साथ छत पर मोबाइल में पिक्चर देख रही थी।

पिक्चर देखते देखते नींद आने पर वह सो गयी जबकि परिवार के अन्य लोग पिक्चर में व्यस्त रहे। बताया गया कि रात करीब बारह बजे सुमन अचानक उठ कर बैठ गई और चेहरे में किसी के खरोंचने का आभास होने की बात परिजनों से कही। लोग टार्च जलाकर उसका चेहरा देखने लगे। इसी बीच किसी की नजर उसके बिस्तर पर गिरे कुछ बाल पर पड़ी।

परिजनों की मानें तो अपने बिस्तर पर कटे बाल को देखते ही सुमन अचेत हो गई। मामले पर शनिवार की सुबह परिजनों ने जब गांव के लोगों से चर्चा किया तो चोटी कटने की बात जंगल में आग की तरह फैल गई। देखते ही देखते चारपाई पर अचेत पड़ी सुमन को देखने के लिए लोगों का मजमा लग गया। मामले की सूचना मिलते ही रानीगंज कैथौला चैकी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल किया। पुलिस की जांच पड़ताल में महिला की चोटी कटने की घटना फिलहाल संदिग्ध लग रही है।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY