अफसरों को केजरीवाल ने दी धमकी, हम कुछ भी बर्दास्त कर सकते है राजनीती नहीं

0
276

दिल्ली- सिविल सर्विस डे के मौके पर 19 अप्रैल को दिल्ली में भाषण देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सीधे-सीधे सिविल सर्विस के अफसरों को धमकी देते हुए कहा है कि, “हम कुछ भी बर्दास्त कर सकते है लेकिन हम राजनीती बिलकुल भी बर्दास्त नहीं कर सकते है, उन्होंने कहा है कि अगर किसी अफसर ने राजनीती करनी है तो रिजाइन करो और आ जाओ चुनाव के मैदान में, अरविंद केजरीवाल ने आगे बढ़ते हुए अधिकारीयों को धमकाते हुए कहा है कि इस देश के अन्दर बड़े-बड़ों की राजनीती ख़राब कर दी है हमनें I”

मोटिवेशनल स्पीच के लिए बुलाया गया था अरविंद केजरीवाल को –
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 19 तारीख को सिविल सर्विस डे के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मोटिवेशनल स्पीच देने के लिए बुलाया गया था लेकिन मंच पर पहुँच कर दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को एक के बाद एक बड़ी-बड़ी धमकियाँ दे डाली I केजरीवाल के इस तरह के बयान के बाद अधिकारियों का मोटिवेशन लेवल कहा गया होगा ये तो वही जाने लेकिन हां वो डिमोटीवेट कितना हुए होंगे ये बड़ी बात है I

दे गए अधिकारीयों को एक के बाद एक धमकी –
अधिकारियों से निपटना मुझे आता है

केजरीवाल ने अधिकारीयों को धमकाते हुए कहा है कि ब्यूरोक्रेसी में राजनीती नहीं चल पाएगी, उन्होंने कहा है कि अगर कोई भी अधिकारी ब्यूरोक्रेसी में राजनीति करेगा तो उससे निपटना हमें बहुत अच्छी तरह से आता है I

जनता ने हमें चुना है और अधिकारियों को हमारी सुननी पड़ेगी –
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को धमकाते हुए कहा है कि, “दिल्ली कि जनता ने हमको चुनकर भेजा है, 70 में से 67 सीट आई है 55% वोट आये है, जनता ने मैंडेट हमें दिया है, ब्यूरोक्रेसी को इसे फालो करना पड़ेगा अगर किसी को तकलीफ है तो या तो वो दिल्ली से ट्रांसफर करवा ले या फिर स्तीफा देकर घर बैठ जाए I

10-15 साल तक हम ही रहेंगे –
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अपने अधिकारीयों को धमकाते हुए कहा है कि जिस तरह से दिल्ली की सरकार चल रही है बड़ी बढ़िया सरकार चल रही अगर इसी तरह चलती रही तो आने वाले 10-15 सालों तक हम ही यहाँ रहेंगे I उन्होंने आगे कहा है कि, ” तो जिन-जिन लोगों कि उम्र 45 से ऊपर हो गयी है, उनके लिए तो फिर कोई चारा नहीं है उनके लिए जो है बस हमी है I

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here