सफाई-फागिंग नहीं तो होगी कार्रवाई:-डीएम

0
73

गोरखपुर(ब्यूरो)- जिलाधिकारी राजीव रौतला ने मच्छरो से पनपने वाले इंसेफेलाईटिस पर प्रभावी नियंत्रण हेतू गम्बूजिया मछली की जानकारी लेते हुए उसके संरक्षण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये| उन्होने कहा कि जेई/एइएस को समूल नष्ट करने हेतू शासन प्रशासन निरन्तर तत्पर है| उन्होने स्वच्छ पेयजल हेतू कहा कि जनपदवासी छोटे हैण्डपंपो का जल सेवन न करे क्योकि एईएस जलजनित बीमारी है और इसके लिए आवश्यक है कि इंडिया मार्का-२ हैण्डपंप का जल सेवन करे| उन्होने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिये कि वे जल की गुणवत्ता की निरन्तर मानीटरिंग करते रहे और जहाँ कहीं गड़बड़ी मिले प्राथमिकता के आधार पर ठीक कराये|

उक्त निर्देश जिलाधिकारी कलेक्ट्रेट सभागार मे जेई/एईएस की रोकथाम के लिए चिकित्सा विभाग एंव अन्य विभागो के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान दिये उन्होने कहा कि जिस क्षेत्र मे यह बीमारी बार-बार हो रही है उस क्षेत्र के संबंधित अधिकारी को दण्डित किया जायेगा| उन्होने आशा, एएनएम , आगनबांड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से गांव-गांव में लोगो जेई/एइएस से बचाव के लिए जागरूक करने का निर्देश दिया|

उन्होने जनपद मे फागिंग की समीक्षा करते हुए कहा कि लागातार फागिंग कराया जाय तथा जो फागिंग मशीन खराब हैं, उन्हे तत्काल ठीक करा लिया जाय तथा बीडीओ व ग्रामप्रधान ग्रामीण क्षेत्रो तथा ईओ शहरी क्षेत्र मे लागातार फागिंग की निगरानी करे|

रिपोर्ट- जयप्रकाश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY